बीएचयू बीकॉम की प्रवेश परीक्षा में टॉपर अर्चना को किया गया सम्मानित
बीएचयू बीकॉम की प्रवेश परीक्षा में टॉपर अर्चना को किया गया सम्मानित
उत्तर-प्रदेश

बीएचयू बीकॉम की प्रवेश परीक्षा में टॉपर अर्चना को किया गया सम्मानित

news

-पिता महज एक बीघे के काश्तकार, अनपढ़ होने के बावजूद बेटी को पढ़ाया वाराणसी, 18 अक्टूबर (हि.स.)। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के बीकॉम प्रवेश परीक्षा 2020 की टापर अर्चना सिंह पटेल को आदर्श ग्राम नागेपुर में रविवार को सम्मानित किया गया। गांव में स्थित लोक समिति आश्रम में आयोजित सम्मान समारोह कार्यक्रम में समिति के संयोजक नन्दलाल मास्टर ने प्रतिभाशाली अर्चना को स्मृति चिन्ह, अंगवस्त्र, और ग्यारह सौ रुपए नगद सम्मान राशि देकर हौसला बढ़ाया। गांव और क्षेत्र के युवाओं के लिए आदर्श बनी अर्चना ने हम उम्र लड़कियों से बातचीत में अध्ययन का तरीका भी बताया। इस दौरान अर्चना के पिता रामजी सिंह ,परिवार का सहयोग करने वाले प्रभु नारायण पटेल, अध्यापक अमन खरे, प्रतीक श्रीवास्तव व संतोष कुमार को भी सम्मानित किया गया। समारोह में मेधावी अर्चना सिंह पटेल के पिता रामजी सिंह पटेल के संघर्ष और जज्बा की भी लोगों ने जमकर सराहना की। मिर्जापुर जिले के अहरौरा बसाढ़ी गांव के निवासी रामजी सिंह महज एक बीघा खेत के काश्तकार और अनपढ़ है। परिवार में पत्नी चंपा देवी, तीन पुत्रियां, दो पुत्र है। बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए चारा मशीन चलाने वाले रामजी सिंह पटेल ने अथक परिश्रम किया। तब कही जाकर बेटी ने जीवन में अपनी पहचान बनाई। रामजी सिंह ने बताया कि छोटी बिटिया अर्चना ने 450 अंक में 347 अंक हासिल किया है। दो और बेटियां बीएससी और एमफिल कर रही हैं। अर्चना सीए बनना चाहती है। अर्चना ने कहा कि पिता के सपनों को पूरा करने के लिए पूरा दमखम लगायेगी। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/दीपक-hindusthansamachar.in