बाल बच्चेदार विवाहिता की शादी पुलिस ने प्रेमी से करा दी,देखता रह गया पहला पति
बाल बच्चेदार विवाहिता की शादी पुलिस ने प्रेमी से करा दी,देखता रह गया पहला पति
उत्तर-प्रदेश

बाल बच्चेदार विवाहिता की शादी पुलिस ने प्रेमी से करा दी,देखता रह गया पहला पति

news

-विरोध में प्रेमी के पिता ने एसपी कार्यालय में सौंपा शिकायती पत्र चंदौली,14 अक्टूबर (हि.स.)। कहते हैं जब किसी के उपर प्रेम का भूत सवार होता है तो वह सभी वर्जनाओं और मर्यादा के बंधन को तोड़ देता है । चाहे वह बाल बच्चेदार हो, विवाहित हो या अविवाहित। उसका लक्ष्य किसी तरह अपने प्रेम को पाना होता है। बुधवार को जनपद चंदौली के अलीनगर स्थित महिला थाने में कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला। अलीनगर निवासी विवाहित महिला की शादी उसके जिद पर पुलिस ने प्रेमी से करा दी। इस दौरान महिला का पहला पति भी उसे फेरे लेते बेचारगी से देखता रह गया। मूल रूप से अलीनगर गोधना निवासी एक युवती की शादी दस वर्ष पूर्व शहाबगंज थाना क्षेत्र के जमोखर गांव निवासी युवक से हुई थी। शादी के बाद दम्पति को दो बच्चे भी हुए। दोनों के जीवन में सब कुछ सामान्य गति से चल रहा था। इसी बीच कोरोना संकटकाल में लॉकडाउन के दौरान महिला अपने मायके आ गई। इसी दौरान उसका प्रेम संबंध एक 20 वर्षीय युवक से हो गया जो उससे उम्र में काफी छोटा था। दोनों प्रेम में डूबने उतराने लगे। पति और अन्य परिजनों को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने विवाहिता को समझाया बुझाया। लेकिन उसके उपर कोई फर्क नही पड़ा। विवाहिता प्रेमी के साथ रहने के लिए उस पर लगातार दबाब बनाने लगी। प्रेमी पहले इंकार करता रहा। प्रेमिका के दबाब और पंचायत पर मामला पुलिस तक पहुंच गया। उधर, पहला पति भी बच्चों के चलते पत्नी से सुलह का प्रयास करता रहा। आज थाना परिसर में स्थित मंदिर में दोनों की शादी आरोप है कि पुलिस ने करा दी। सूचना पर वहां पहुंचे पहले पति ने जब पत्नी को फेरे लेते देखा तो चुपचाप लौट गया। इधर, प्रेमी के परिजन भी इस बेमेल शादी को लेकर थाना परिसर में ही नाराजगी जताते रहे। प्रेमी के पिता ने इसके विरोध में एसपी कार्यालय में उनके अनुपस्थिति में शिकायती पत्र भी दिया। परिजनों का आरोप है कि लड़का महज 20 वर्ष का है,महिला 38 वर्ष की दो बच्चों की मां है। विरोध करने पर पुलिस वालों ने भगा दिया। थाना परिसर में शादी देखने के लिए उमड़ी भीड़, किसी ने नही पहना था मास्क थाना परिसर में इस बेमेल शादी को देखने के लिए आसपास के लोगों की भीड़ जुट गईं । इस दौरान लोगों के साथ पुलिस कर्मियों ने भी कोविड प्रोटोकाल का जमकर धज्जियां उड़ाई गईं। महिला थाना प्रभारी भी बिना मास्क के ही नजर आई। मामला सोशल मीडिया में गरमाते ही अलीनगर थानाध्यक्ष ने महिला थानाध्यक्ष शशि सिंह सहित 15 लोगों से शमन शुल्क वसूल किया। हिन्दुस्थान समाचार/जयप्रकाश/श्रीधर-hindusthansamachar.in