बाजार बंद कराने को लेकर आपस में भिड़े व्यापारी, सेंट्रल मार्केट में मारपीट-पथराव, लाठीचार्ज
बाजार बंद कराने को लेकर आपस में भिड़े व्यापारी, सेंट्रल मार्केट में मारपीट-पथराव, लाठीचार्ज
उत्तर-प्रदेश

बाजार बंद कराने को लेकर आपस में भिड़े व्यापारी, सेंट्रल मार्केट में मारपीट-पथराव, लाठीचार्ज

news

मेरठ, 12 सितम्बर (हि. स.) कुछ दिन पहले मेडिकल थाना क्षेत्र के जागृति विहार में हुए अमन जैन हत्याकांड को लेकर दो व्यापारी संगठनों द्वारा अलग-अलग दिन किया गया मेरठ बंद का आवाहन शनिवार को हंगामे का सबब बन गया। शास्त्रीनगर के सेंट्रल मार्केट में बाजार बंद कराने को लेकर दोनों पक्षों के बीच तकरार हो गई। आरोप है कि इस दौरान एक पक्ष ने मारपीट और पथराव कर दिया। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए व्यापारियों को अलग किया। घटना को लेकर सेंट्रल मार्केट में घंटों तक हंगामे के हालात बने रहे। बताते चलें कि जागृति विहार में हुए अमन जैन हत्याकांड को लेकर जहां संयुक्त व्यापार संघ के विजेंद्र अग्रवाल गुट ने शनिवार को मेरठ बंद का आवाहन किया था। वहीं, नवीन गुप्ता वाले संयुक्त व्यापार संघ ने रविवार को व्यापारियों से मेरठ बंद की अपील की थी। बताया जाता है कि शनिवार को विजेंद्र अग्रवाल गुट से जितेंद्र अग्रवाल उर्फ अट्टू और नवीन कुमार शर्मा के साथ पार्षद पति बिल्लू सेंट्रल मार्केट में व्यापारियों से दुकानें बंद करने की अपील करते घूम रहे थे। इसी दौरान साहिल होटल के निकट दुकानें बंद कराने को लेकर नवीन गुट के व्यापारी नेता और सेंट्रल मार्केट व्यापार संघ के अध्यक्ष किशोर वाधवा व व्यापारी नेता विनोद अरोड़ा की दूसरे पक्ष के व्यापारियों से तकरार हो गई। जितेंद्र अग्रवाल का आरोप है कि इसी दौरान किशोर वाधवा पक्ष ने उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। जिस दौरान कुछ लोगों ने व्यापारियों पर पथराव भी कर दिया। घटना के चलते बाजार में अफरा-तफरी मच गई। उधर, जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए हंगामे पर उतारू व्यापारियों को तितर-बितर किया। घटना की जानकारी मिलते ही विजेंद्र अग्रवाल भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने पुलिस पर एक पक्षीय कार्यवाही का आरोप लगाते हुए इस मामले में आला अधिकारियों से शिकायत की बात कही। घटना के चलते सेंट्रल मार्केट में घंटों हंगामे के हालात बने रहे। बाद में मौके पर पहुंची सीओ सिविल लाइन पूनम सिरोही और थानाध्यक्ष नौचंदी आशुतोष कुमार ने स्पष्ट किया कि जो व्यापारी अपनी मर्जी से दुकानों को बंद रखना चाहते हैं, वह बंद रखें। यदि किसी ने जबरन दुकानें बंद कराने का प्रयास किया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि दोनों गुटों के व्यापारी एक-दूसरे पर मारपीट का आरोप लगा रहे हैं। इसलिए घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज निकलवाई जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप/दीपक-hindusthansamachar.in