बहुसंख्यक आबादी भी कार्यक्रमों से हो लाभान्वित : डीएम
बहुसंख्यक आबादी भी कार्यक्रमों से हो लाभान्वित : डीएम
उत्तर-प्रदेश

बहुसंख्यक आबादी भी कार्यक्रमों से हो लाभान्वित : डीएम

news

आधुनिक जीवन में पोषण के उपलब्ध विकल्पों की दी जानकारी मीरजापुर, 17 सितम्बर (हि.स.)। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय बरकछा में गुरूवार को कृषि विज्ञान केंद्र की ओर से राष्ट्रीय पोषण अभियान का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि डीएम सुशील कुमार पटेल ने कृषकों के कार्यक्रम की सराहना करते हुए इन्हें और रूप प्रदान किए जाने की अपेक्षा व्यक्त की ताकि जिले की बहुसंख्यक आबादी भी इन कार्यक्रमों से लाभान्वित हो सके। डीएम ने मानव जीवन में स्वास्थ्य एवं पोषण के महत्व तथा आधुनिक जीवन में पोषण के लिए उपलब्ध विभिन्न विकल्पों और उनके घरेलू अनुप्रयोगों के बारे में प्रतिभागियों को जानकारी दी। उन्होंने कहा विगत दशकों में कृषि यंत्रीकरण और रासायनिक खेती की बदौलत खेती और इसके उत्पादों पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों से पोषण का क्षेत्र अछूता नहीं रह गया है। केंद्र अध्यक्ष प्रो. श्रीराम सिंह ने कार्यक्रम की जानकारी देते हुए इसके उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। वहीं जिला कार्यक्रम अधिकारी ने पोषण के महत्व पर चर्चा की। वैज्ञानिक व्याख्यान श्रृंखला में नोड़ल अधिकारी डॉ. एसके गोयल ने ‘राष्ट्रीय पोषण माह की महत्ता’ पर प्रतिभागियों से संवाद किया। वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. एसपी सिंह ने फलों और सब्जियों का पोषण में योगदान विषय को रेखांकित किया। फसल सुरक्षा वैज्ञानिक डॉ. जेपी राय ने मशरूम पोषण के महत्व पर व्याख्यान प्रस्तुत किया। डॉ. एसएन सिंह ने अंकुरित अनाजांं द्वारा पोषण प्रबंधन के बारे में जानकारी दी। इफको के वरिष्ठ प्रबंधक डॉ. जीपी तिवारी ने इफको उत्पादन एवं पोषण विषय पर प्रतिभागियों को जानकारी देते हुए विभिन्न उत्पादों के बारे में बताया। हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in