बलिया : पोस्टमास्टर की बेटी शशि का शिक्षक से पीसीएस अफसर तक का सफर
बलिया : पोस्टमास्टर की बेटी शशि का शिक्षक से पीसीएस अफसर तक का सफर
उत्तर-प्रदेश

बलिया : पोस्टमास्टर की बेटी शशि का शिक्षक से पीसीएस अफसर तक का सफर

news

बलिया, 13 सितम्बर (हि. स.)। मेहनत और लगन हो तो सफलता जरूर कदम चूमती है। एक पोस्टमास्टर की बेटी शशि सिंह ने ऐसा ही कर दिखाया है। बेहद सामान्य परिस्थितियों में पली-बढ़ी शशि अब पीसीएस अधिकारी बन गई हैं। शशि की शिक्षक से पीसीएस अधिकारी तक के सफर पर गांव ही नहीं, बल्कि पूरे इलाके में जश्न का माहौल है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा पीसीएस 2018 का अन्तिम चयन परिणाम जारी किया गया तो उसमें जिले के सहतवार इलाके के कुसौरी कला निवासी करमचन्द सिंह की बिटिया शशि सिंह नाम देखकर परिवार व गांव के लोग जश्न में डूब गए। अधिवक्ता दिग्विजय सिंह की बहन शशि सिंह का चयन श्रम प्रवर्तन अधिकारी के रूप में हुआ है। शशि सिंह एक सामान्य परिवार से हैं। इनके पिता पोस्ट मास्टर पद से सेवानिवृत्त हैं। जबकि मां सरस्वती सिंह अपने ग्राम पंचायत की पहली महिला क्षेत्र पंचायत सदस्य रही हैं। शशि सिंह बचपन से ही पढ़ने में होनहार रही हैं। इनकी स्कूली शिक्षा सहतवार के कुंवर कान्वेंट से हुई है। स्नातक व परास्नातक की पढ़ाई शहर के गुलाब देवी महाविद्यालय से हुई है। वे वर्तमान में बेसिक शिक्षा विभाग आजमगढ़ में शिक्षक के रूप में कार्यरत हैं। शशि सिंह को रेंजर एण्ड रोवर्स में राष्ट्रपति पदक भी मिल चुका है। शशि सिंह की सफलता पर उनके गांव के लोगों और क्षेत्रवासियों में खुशी की लहर है। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/राजेश-hindusthansamachar.in