प्रवासी श्रमिकों के रोजगार दिलाने के मुद्दे पर जिलाधिकारी ने ली समीक्षा बैठक
प्रवासी श्रमिकों के रोजगार दिलाने के मुद्दे पर जिलाधिकारी ने ली समीक्षा बैठक
उत्तर-प्रदेश

प्रवासी श्रमिकों के रोजगार दिलाने के मुद्दे पर जिलाधिकारी ने ली समीक्षा बैठक

news

- सभी विभागाधिकारियों से प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार सृजन पर दिया जोर फतेहपुर, 23 जुलाई (हि.स.)। जिले में आये प्रवासी श्रमिकों के सामाजिक तथा आर्थिक सुरक्षा, सर्वागींण विकास के उद्देश्यों के प्राप्ति के लिए जनपद स्तर पर गठित समिति एवं गरीब कल्याण रोजगार समिति की बैठक विकास भवन सभागार में जिलाधिकारी संजीव सिंह की अध्यक्षता में सम्पन हुई । बैठक में अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग ने जानकारी दी कि विभाग में कार्यरत अवर अभियंता सुधीर कुमार दो दिन से बिना किसी पूर्व सूचना के गायब है। जिलाधिकारी ने प्रतिकूल प्रविष्टि देते हुए दो दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया। जिला खादी ग्रामोद्योग अधिकारी, जिला प्रबंधक कौशल विकास मिशन, सेवायोजन अधिकारी, अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग, उपायुक्त जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केन्द्र के कार्य मे कम प्रगति पर चेतावनी दी गई। साथ ही जिला सेवायोजन अधिकारी को निर्देश दिए कि प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिलाया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी विभागो द्वारा जनपद में किये जाने वाले कार्यो जिसमे सेवायोजन एवं रोजगार सृजन हो रहा है उसमें त्वरित गति से वृद्धि कर सभी प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराए जाएं और सभी कामगारों एवं श्रमिकों की स्किल मैपिंग करना, कौशल क्षमता का डाटा प्रबंधन करना उनके कौशल का विकास कर रोजगार तथा स्वरोजगार के माध्यम से रोजगार दिए जाने के संबंध में विभागों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सेवायोजन विभाग के पोर्टल पर सभी का पंजीयन करने एवं "सेवा मित्र एप" पर स्किल्ड श्रमिकों का अनिवार्य रूप से पंजीयन करना सुनिश्चित करें और विकास खंड स्तर पर व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए। उद्योगों में प्रशिक्षण के अवसरों को प्रोत्साहित करने के लिए अप्रेंटिस के मध्यम से "ऑन द जॉब" प्रशिक्षण को बढ़ावा देना, जनपद स्तर पर सभी विकासोन्मुखी योजनाओं में सृजित होने वाले रोजगार विशेष रूप से राष्ट्रीय आजीविका मिशन, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना, एक जनपद एक उत्पाद, माटी कला, खाद्य प्रसंस्करण, मनरेगा आदि विशेष रोजगार सृजन पर बल देना, गैर सरकारी क्षेत्र खासकर एन0आर0एल0एम0 के अंतर्गत आजीविका मिशन में समूह बनाकर, मत्स्य पालन, कुम्हारी कला योजना, स्वतः रोजगार हेतु प्रशिक्षण, बकरी एवं भैस पालन, मुद्रा योजना, नहर की सिल्ट सफाई आदि के माध्यम से रोजगार व स्वतः रोजगार उपलब्ध कराया जाए। आगामी छह माह के लिए गरीब कल्याण योजन के अंतर्गत विकासोन्मुख कार्यक्रम के माध्यम से रोजगार मुहैया कराया जाए। यह जनपद "गरीब कल्याण योजना" के लिए केंद्र सरकार द्वारा चयनित 116 जनपदों में सम्मिलित है। जनपद में 29000 से अधिक प्रवासी श्रमिक आये हैं जिन्हें रोजगार व स्वरोजगार दिए जाय। उन्होंने विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि "मानव दिवस" सृजन के लिए डाटा प्रतिदिन upkkv.in पर फीड करते हुए सूचना अनिवार्य रूप से सम्मिलित करे। कौशल विकास मिशन में प्रशिक्षण हेतू 2058 के सापेक्ष 576 लाभार्थियों का चयन होने पर कड़ा रोष व्यक्त किया करते हुए कहा कि अगली बैठक के पूर्व लक्ष्य को प्राप्त कर ले एवं सभी विभाग आगामी छः माह की कार्ययोजना (मानव दिवस एवं कार्य) बनाते हुए लक्ष्य आपूर्ति की रिपोर्ट तत्काल सेवायोजन विभाग को सौंपे। सेवायोजन के विभागीय पोर्टल sewa yojan.up.nic.in पर उपलब्ध प्रवासी श्रमिकों में कितने को रोजगार के अवसर प्राप्त हुए, का चिन्हांकन सुनिश्चित करे और पोर्टल पर बेरोजगार तकनीकी योग्यता वाले एवं "गरीब रोजगार कल्याण योजना" का क्रियान्वयन तीव्र गति से किया जाय तथा विभागीय योजनाओं की जानकारी प्रवासी श्रमिको को उपलब्ध करायी जाए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश, पीडी अशोक कुमार निगम, डीसी मनरेगा पुतान सिंह, जिला सेवायोजन अधिकारी उज्ज्वल कुमार सिंह, जिला उद्योग केंद्र, परियोजना अधिकारी डूडा, सहायक श्रमायुक्त, डीडीएजी, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी, विधुत, लोक निर्माण विभाग, प्रभागीय वनाधिकारी, प्रधानाचार्य आईटीआई, डीपीएओ, ईओ नगर पालिका, एलडीएम सहित सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/देवेन्द्र/मोहित-hindusthansamachar.in