प्रदेश की ध्वस्त कानून व्यवस्था को लेकर सपा का हल्लाबोल
प्रदेश की ध्वस्त कानून व्यवस्था को लेकर सपा का हल्लाबोल
उत्तर-प्रदेश

प्रदेश की ध्वस्त कानून व्यवस्था को लेकर सपा का हल्लाबोल

news

फतेहपुर, 19 अक्टूबर (हि.स.)। समाजवादी पार्टी के तत्वधान में जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राज्यपाल को एक ज्ञापन प्रेषित किया गया। जिसमें मांग की गई कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति अत्यंत गंभीर है। हत्या, लूट, अपहरण, बलात्कार की घटनाएं बढ़ रही हैं और प्रदेश की भाजपा सरकार इस पर नियंत्रण पाने में पूर्णतया असफल है। जिलाध्यक्ष विपिन यादव ने कहा कि प्रदेश में बेलगाम अपराध और बेखौफ अपराधी सत्ता संरक्षण में पल रहे हैं। जनता अपने को असुरक्षित महसूस कर रही है। भाजपा राज में सर्वाधिक महिलाएं एवं बच्चियां अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रही हैं। कहा कि न केवल हाथरस अपितु बलरामपुर, आजमगढ़, बुलंदशहर, भदोही, लखनऊ, बाराबंकी, बागपत, मेरठ, फतेहपुर, अलीगढ़, उन्नाव, लखीमपुर खीरी, मथुरा, महाराजगंज, प्रयागराज और पीलीभीत में भी हैवानियत की घटनाएं घटित हुई है इन लोगों ने 8 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन दिया। जिसमें जनपद की बदहाल बिजली व्यवस्था को तत्काल सही कराए जाने की आवाज बुलंद की। ज्ञापन में नउवाबाग से राधा नगर रोड को तत्काल निर्माण कराए जाने, समाजवादी पार्टी के नेता असलम फरसी व उनके परिवार को सत्ता के संरक्षण में पुलिस उत्पीड़न तत्काल बंद कराने,विपक्षी प्रधानों को जांच के नाम पर शोषण बंद किए जाने, करसवां कांड में पुष्पा कुशवाहा परिवार को न्याय दिलाने के लिए निष्पक्ष जांच और पीड़ित परिवार को ढाई लाख रुपये के मुआवजे की मांग की गई। इस अवसर पर जिला उपाध्यक्ष अरूणेश पांडेय, सतीश राज सिंह, देवी गुलाम कुशवाहा, चौधरी मंजर यार, उदय प्रताप सिंह, मोहम्मद आजम, जय प्रताप सिंह, रीता प्रजापति, अंकित यादव, वीरेंद्र यादव, कलीम शेख, नफीसउद्दीन, तरन्नुम परवीन सहित तमाम सपाई मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/देवेन्द्र/मोहित-hindusthansamachar.in