प्रदूषण के खिलाफ अनोखी पहल, खुद बंद की 60 इकाईयां
प्रदूषण के खिलाफ अनोखी पहल, खुद बंद की 60 इकाईयां
उत्तर-प्रदेश

प्रदूषण के खिलाफ अनोखी पहल, खुद बंद की 60 इकाईयां

news

गाजियाबाद, 05 नवम्बर (हि.स.)। प्रदूषण पर अंकुश लगाने को लेकर गाजियाबाद की यंग रूरल इंडस्ट्रीज ने गुरुवार को एक नई पहल की। एसोसिएशन ने जिला प्रशासन की मार्मिक अपील पर लोनी औधोगिक क्षेत्र एक साथ 60 औधोगिक इकाईयों को प्रदूषण नियंत्रण की वैकल्पिक व्यवस्था होने तक बन्द करने का फैसला किया है। इतना ही नहीं एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने कलक्ट्रेट पर पहुंचकर जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय से भेंट की और अपने इस फैसले की उन्हें जानकारी दी। यंग रूरल इन्डस्ट्रीज एसोसिएशन रूपनगर लोनी के पदाधिकारी सुबोध शर्मा व पवन अग्रवाल के नेतृत्व में उद्यमियों का एक प्रतिनिधि मंडल गुरुवार को जिला मुख्यालय पहुंचा। उन्होंने जिलाधिकारी को अपने इस निर्णय से अवगत कराया। जिलाधिकारी ने एसोसिएशन के पदाधिकारियो को बधाई देते हुए कहा कि एसोसिएशन का यह मानवीय दृष्टिकोण से अच्छा व अनुकरणीय फैसला हैं। उद्यमियों ने बताया कि जब तक उनकी यूनिटों में एलपीजी बाॅयलर नहीं लगेंगे, तब तक ये यूनिट बन्द रहेगी। जिलाधिकारी ने उनसे पूछा कि इन यूनिट में काम करने वाले कामगारों का क्या होगा? तो उन्होंने बताया कि लाॅकडाउन में भी हम अपने साथी मजदूरों को पूरा वेतन दे रहे थे। इस समय इन सभी 60 यूनिट में 600 मजदूर काम कर रहे है। जल्दी ही हम कोयले की भट्ठियांे को बन्द कर वहां एलपीजी बाॅयलर यूनिट लगा रहे है। इससे प्रदूषण भी खत्म हो जाएगा और लागत में भी कमी आयेगी। जिलाधिकारी ने जब यह देखा कि लोनी इलाके में औद्योगिक इकाईयां लगातार प्रदूषण फैला रही है। नकारात्मक कार्रवाई करने के बावजूद कोई सकारात्मक परिणाम नहीं आ रहा है तो उन्होंने एसडीएम लोनी खालिद अंजुम को उद्यमियांे के बीच भेजा और मानवीय आधार पर उनसे मार्मिक अपील की गयी कि जानलेवा जहरीले प्रदूषण से छोटे-छोटे बच्चे और बूढे़ लोग मर रहे है। इस अपील से उद्यमियो का हृदय परिवर्तन हो गया। हिन्दुस्थान समाचार/फरमान अली-hindusthansamachar.in