प्रकृति के नजदीक ले जाने वाला टूरिज्म देता है रोजगार : योगी आदित्यनाथ
प्रकृति के नजदीक ले जाने वाला टूरिज्म देता है रोजगार : योगी आदित्यनाथ
उत्तर-प्रदेश

प्रकृति के नजदीक ले जाने वाला टूरिज्म देता है रोजगार : योगी आदित्यनाथ

news

गोरखपुर, 27 सितम्बर (हि.स.)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखनाथ मंदिर में गोरखपुर वन प्रभाग द्वारा बनाई गई ईको टूरिज्म पर आधारित दो शार्ट फिल्मों के लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि पर्यटन में रोजगार की अनंत संभावनाएं हैं। इसलिए प्रदेश सरकार ने टूरिज्म और ईको टूरिज्म के जरिए रोजगार के अवसर को बढ़ाने की दिशा में कार्य शुरू किया है। टूरिज्म न केवल हमें प्रकृति के नजदीक ले जाता है, बल्कि रोजगार के द्वार भी खोलता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के अभियान को आगे बढ़ाने के लिए भी यह महत्वपूर्ण है। पर्यटन का मतलब सिर्फ टूरिस्ट स्पॉट या मनोरंजन नहीं है। टूरिज्म न केवल हमें प्रकृति के नजदीक ले जाता है, बल्कि रोजगार के द्वार भी खोलता है। उन्होंने कहा कि हमारे यहां न केवल धार्मिक पयर्टन बल्कि ईको टूरिज्म के क्षेत्र में भी अपार संभावनाएं हैं। विश्व पयर्टन दिवस की थीम 'टूरिज्म एवं रूरल डेवलपमेंट' के मुताबिक ही गोरखपुर समेत समूचे प्रदेश में ग्रामीण क्षेत्र में पयर्टन और रोजगार की संभावनाएं बढ़ाई जाएंगी। इस दौरान उन्होंने गोरखपुर वन प्रभाग द्वारा बनाई गई शॉर्ट फिल्मों का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की आबादी के हिसाब से यूपी सबसे बड़ा प्रदेश है। यहां ऐसे बहुत से स्थल हैं, जिन्हें ईको टूरिज्म की दृष्टि से विकसित किया जा सकता है। गोरखपुर के अलावा 428 वर्ग किलोमीटर के विस्तृत भू-क्षेत्र में फैला हुआ गण्डक नदी का पश्चिमी क्षेत्र महराजगंज सोहगी बरवा वन प्रभाग के रूप में इको टूरिज्म का बहुत बड़ा सेंटर है। लखीमपुर खीरी में चूका और चंदौली के चंद्रप्रभा वन प्रभाग का भी क्षेत्र ईको टूरिज्म की दृष्टि से बहुत समृद्धशाली है। उन्होंने कहा कि गोरखपुर वन विभाग द्वारा प्रस्तुत डक्यूमेंट्री ऐसी ही संभावनाओं की दिशा में एक प्रयास है। वन विभाग, पयर्टन विभाग और अन्य विभाग मिल कर इसे आगे बढ़ाएं। अच्छे परिणाम सामने आएंगे। मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पित शर्ट्स फिल्मों को देखने का बाद हेरिटेज फाउंडेशन के अनिल कुमार तिवारी, अनुपमा मिश्रा, डॉ संजय कुमार समेत दर्जन भर लोगों ने इस प्रयास की सराहना की है। हिन्दुस्थान समाचार/आमोद/राजेश-hindusthansamachar.in