पशु आहार कर्मचारियों को लूटने वाले चार बदमाश गिरफ्तार
पशु आहार कर्मचारियों को लूटने वाले चार बदमाश गिरफ्तार
उत्तर-प्रदेश

पशु आहार कर्मचारियों को लूटने वाले चार बदमाश गिरफ्तार

news

-एसएसपी ने घटना के त्वरित पर्दाफाश पर लंका और स्वाट टीम को किया पुरस्कृत वाराणसी,23 जुलाई (हि.स.)। लंका पुलिस ने बीएचयू ट्रामा सेंटर के पास पशुआहार के कर्मचारियों से 9 लाख रूपये लूट मामले का पर्दाफाश गुरूवार देर शाम कर दिया। लूटकांड में शामिल बदमाशों की गिरफ्तारी से खुश होकर एसएसपी अमित पाठक ने स्वाट टीम और लंका पुलिस टीम को 15000-15000 रूपये पुरस्कार देने की भी घोषणा की। जिला रायफल क्लब सभागार में गिरफ्तार चार बदमाशों को मीडिया के सामने पेश किया गया। एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि 20 जुलाई की शाम बीएचयू ट्रामा सेंटर के समीप लौटूबीर बाबा मंदिर के पुलिया के पास पशु आहार विक्रेता के कर्मचारियों से 09 लाख रूपये की लूट के बाद लंका पुलिस और स्वाट टीम प्रभारी और उनकी टीम सीओ भेलूपुर के मार्गदर्शन में बदमाशों की सुराग में लगे हुए थे। आज शाम उन्हें सूचना मिली कि पशु आहार कर्मियों को लूटने वाले बदमाश बिहार भागने के फिराक में है पुलिस टीम ने घेराबंदी कर बदमाशों को पकड़ लिया। बदमाशों की निशानदेही पर लूटा गया 09 लाख रूपये,दो मोटरसाइकिल,घटना में प्रयुक्त चार मोबाइल,दो तमंचा,चार कारतूस और दूध का बाल्टा जिसे बदमाशों ने जला दिया था उसका अवशेष बरामद कर लिया। एसएसपी ने बताया कि इस पूरे लूटकांड में पूछताछ में सामने आया कि सीरगोवर्धनपुर निवासी अक्षय उर्फ रोहित यादव आईपीएल में 20 हजार रूपये हार गया था। अक्षय ने अपनी परेशानी नैपुरा कला निवासी दोस्त विशाल पाल से कहा कि मुझे रूपये की आवश्यकता है। इस पर विशाल ने कहा कि मै अपने पड़ोसी बृजेश यादव का 05-06 लाख रूपया कुबेर कॉम्पलेक्स में पहुंचा चुका हूंं । अगर उसका रूपया लूट लिया जाय तो काफी रूपया मिल जायेगा। इसके बाद अक्षय ने साथियों के साथ मिलकर लूट की योजना बना ली। घटना वाले दिन बृजेश यादव ने अपने दो कर्मचारी गुलाब यादव निवासी रामनगर और श्री नारायण निवासी नैपुरा को 9 लाख रुपये देकर कुबेर कॉम्लेक्स के पास एक व्यापारी को देने के लिए भेजा । रूपये लेकर कर्मचारी जैसे ही निकले विशाल और सूरज ने साथी अक्षय यादव और शिवलाल पाल को दी। इसके बाद दोनों ने खुद भी मोटर साइकिल से यादव भवन के पास पहुंच गये। यहां दोनों ने अपनी मोटर साइकिल खड़ी कर बीएचयू कैम्पस से चोरी किये गये अपाचे पर सवार होकर ट्रामा सेन्टर तिराहे के पास आये। यहां दोनों ने कर्म्चारियों की मोटर साइकिल में टक्कर मारकर उन्हें गिरा दिया और दूध के बाल्टे में रखा पैसा छिनकर भाग गये। रास्ते में दोनों ने अपना कपड़ा बदल लिया तथा आपस में तीन–तीन लाख रुपया अक्षय उर्फ रोहित यादव एवं शिवलाल पाल ने ले लिया । जबकि अपने साथी विशाल पाल व अजय उर्फ सूरज यादव को डेढ़-डेढ़ लाख रुपया दे दिया । इसके बाद अपाचे मोटर साइकिल छित्तुपुर खड़ी कर दिया और वहीं पर प्लास्टिक के दूध के बाल्टा को पेट्रोल डालकर जला दिया। इसके बाद चारों वहां से पैदल आकर अपनी पूर्व से खड़ी मोटर साइकिल लेकर चले गये। एसएसपी के अनुसार गिरफ्तार बदमाशों का अपराधिक पृष्ठभूमि है। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/दीपक-hindusthansamachar.in