पत्रकार रतन सिंह के परिजनों के आंसू देख फफक पड़े मंत्री उपेंद्र तिवारी
पत्रकार रतन सिंह के परिजनों के आंसू देख फफक पड़े मंत्री उपेंद्र तिवारी
उत्तर-प्रदेश

पत्रकार रतन सिंह के परिजनों के आंसू देख फफक पड़े मंत्री उपेंद्र तिवारी

news

बलिया, 27 अगस्त (हि. स.)। प्रदेश सरकार के खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने गुरूवार को बदमाशों द्वारा गोली से मारे गए पत्रकार रतन सिंह के परिजनों से मुलाकात की। प्रदेश सरकार की ओर से शोक संवेदना व्यक्त करते हुए स्व. रतन सिंह की पत्नी प्रियंका और मासूम बेटे को देख मंत्री श्री तिवारी फफक पड़े। उन्होंने हर संभव मदद का भरोसा दिया। बता दें कि सोमवार की रात में अपने गांव फेफना में ही पत्रकार रतन सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में दस लोग नामजद किए गए थे। जिसमें से छह को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। प्रदेश सरकार ने रतन के परिजनों को दस लाख रुपए की आर्थिक सहायता की घोषणा की थी। जिसे बाद में पंद्रह लाख किया गया था। घटना के अगले दिन ग्रामीणों व पत्रकारों ने रतन सिंह के परिजनों को एक करोड़ की सहायता व उनकी पत्नी को सरकारी नौकरी के लिए सड़क जाम किया था। फेफना विधायक व मंत्री उपेन्द्र तिवारी ने मंगलवार को फोन पर रतन के पिता विनोद सिंह से बात कर और अधिक सहायता का आश्वासन दिया था। शीघ्र ही मिलने की भी बात कही थी। उसी क्रम में मंत्री उपेन्द्र तिवारी गुरूवार को पत्रकार रतन के घर संवेदना जताने गए थे। उनसे रतन के पिता विनोद सिंह ने स्थानीय पुलिस पर कई आरोप लगाए। जिस पर मंत्री ने जांच कराने का भरोसा दिया। मंत्री से बात करते हुए रतन सिंह की पत्नी प्रियंका के आंसू थम नहीं रहे थे। तभी रतन का आठ माह का मासूम भी रोने लगा। मंत्री श्री तिवारी यह दृश्य देख खुद को रोक नहीं सके। उनकी भी आंखें छलक पड़ीं। उन्होंने परिजनों को उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से शोक सम्वेदना व्यक्त करते हुए दोषियों के ख़िलाफ़ कठोर कार्यवाही के लिए आश्वस्त किया। कहा कि रतन सिंह एक सम्मानित व्यक्ति के साथ-साथ मेरे अच्छे मित्र भी थे। मेरे लिए यह व्यक्तिगत क्षति है। परिजनों की हर सम्भव मदद की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/दीपक-hindusthansamachar.in