पत्रकारों की सुरक्षा को जिलाधिकारी से मिला प्रतिनिधि मंडल
पत्रकारों की सुरक्षा को जिलाधिकारी से मिला प्रतिनिधि मंडल
उत्तर-प्रदेश

पत्रकारों की सुरक्षा को जिलाधिकारी से मिला प्रतिनिधि मंडल

news

- अस्पताल में पत्रकार के साथ की गयी अभद्रता की होगी जांच कानपुर, 12 सितम्बर (हि.स.)। भारतीय लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाने वाला मीडिया इन दिनों बराबर इसलिए चर्चा में बना रहता है कि पत्रकारों पर हमले बढ़ गये हैं। इसी को लेकर श्रमजीवी पत्रकार कल्याण समिति का एक प्रतिनिधि मंडल जिलाधिकारी से मिला और पत्रकारों की सुरक्षा की मांग की। इसके साथ ही बीते दिनों अस्पताल में पत्रकार से साथ की गयी अभद्रता पर कार्यवाही की मांग की गयी, जिस पर जिलाधिकारी ने एसएसपी को जांच करने के लिए निर्देशित किया। देशभर में पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठ रहे हैं और लगातार सवालों पर कानपुर में श्रमजीवी पत्रकार कल्याण समिति ने जिलाधिकारी के द्वारा प्रधानमंत्री के लिए ज्ञापन सौंपा। कहा गया कि जिस तरह से जगह-जगह पत्रकारों की कलम को दबाया जा रहा है, पत्रकारों की हत्या की जा रही है उससे समाज में सरकार के प्रति छवि खराब हो रही है। देश में प्रतिदिन इस तरह के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और कानपुर में भी बीते दिन अस्पताल की खबर बनाने पर पत्रकार साथियों को मारपीट कर उनके साथ दुर्दशा कर उनके कैमरा को छीना गया। इसके साथ ही धमकी दी गयी कि जो कहा जाए वही लिखा जाये। श्रमजीवी पत्रकार कल्याण समिति के बताया कि पत्रकारों के हित के लिए अगर सरकार ने जल्द कदम नहीं उठाया तो कहीं ना कहीं देशभर के पत्रकारों के साथ एकत्रित होकर आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे, हालांकि कानपुर जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने एसएसपी को निर्देश करते हुए कहा कि जांच कर जल्द से जल्द मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही करें। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग के सीएमओ को निर्देशित करते हुए अस्पताल की पूरी जांच करने का तत्काल प्रभाव आदेश भी कर दिए है। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/मोहित-hindusthansamachar.in