नौनिहालों ने गीत-संगीत के माध्यम से कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक किया
नौनिहालों ने गीत-संगीत के माध्यम से कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक किया
उत्तर-प्रदेश

नौनिहालों ने गीत-संगीत के माध्यम से कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक किया

news

लखनऊ, 23 जुलाई (हि.स.)। न खुद डरें, न औरों डराएं, कोरोना के प्रति जग को जागरूक बनाएं। नौनिहाल तान्या ने जब यह लाइव प्रस्तुति दी तो चल रहे डिजिटल उत्सव के दौरान खुद ही लोग तालियां बजाने को मजबूर हो गये। इस तरह के नौनिहालों ने गुरुवार को अनेक प्रस्तुतियां देकर लोगों को गीत-संगीत के माध्यम से कोरोना के प्रति जागरूक किया। इसके साथ ही उससे न डरने के लिए अपील की। अवसर था अंजली फिल्म प्रोडक्शन एवं सीटीसीएस फैमिली का सामाजिक जागरूकता डिजिटल उत्सव का। इसकी शुरुआत बाल कलाकार तान्या श्रीवास्तव ने कोरोना वायरस से न डरने की अपील करते हुए लोक गायिका मालिनी अवस्थी के गीत “हवाओ पे बैठा है पहरा, असर देखो कितना है गहरा। पूछे ये हर कोई देखो खतरा बड़ा है पहचानो...’ पर नृत्य प्रस्तुत करके बताया कि कोरोना से नहीं, बल्कि उसके संक्रमण के फैलाव से डरना है। इसके बाद मिलने की तुम कोशिश न करना घर से बाहर न निकलना कोरोना फैल जाता है पर प्रस्तुति देकर अनावश्यक घर से बाहर न निकलने की अपील की। चाइना के सामान के बहिष्कार की अपील लोक बाल नृत्यांगना एवं लिम्का बुक रिकॉर्ड होल्डर वागीशा पन्त ने देवी आरती ‘भोर भई दिन चढ़ गया मेरी अम्बे के साथ’ अपनी प्रस्तुतियां शुरू की। चाइना बहिष्कार और स्वदेशी के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के उद्देश्य से हम कर लेंगे इस्तेमाल अपना स्वदेशी, शराब एवं धूम्रपान न करने का आवाह्न करते हुए जीना है तो पापा शराब मत पीना, यातायात नियमों का पालन करने के उद्देश्य से आ रे ड्राइवर भाया पर प्रस्तुति दी। इतना ही नहीं वागीशा ने कुमाउनी फोक, गढ़वाली फोक, पंजाबी फोक, भोजपुरी फोक आदि सहित सरोज खान को श्रद्धांजलि स्वरूप गाने पर नृत्य एवं फ्रंटलाइन वारियर्स को नमन करते हुए मोरी मां के केस हमारे पर अपनी प्रस्तुति दी प्रस्तुत किया। कठिन विषयों को भी इंटरेस्ट लेकर पढ़ाई पर दिया जोर अभिनव सिंह ने आल इज़ वेल एवं मैथ्स में डब्बा गुल जैसे गीतों पर अपना गायन प्रस्तुत करके कठिन विषयों को भी इंटरेस्ट लेकर पढ़ाई पर ज़ोर दिया। अंशिका सिंह ने बेटियों के अमूल्य महत्व पर ज़ोर देते हुए मुझे क्या बेचेगा रुपय्या, एक ज़िन्दगी मेरी सौ ख्वाहिशें,मुड़ के न देखो दिलबरों एवं मेरे घर आई एक नन्ही परी गीत गाकर लड़कियों को समुचित सम्मान एवं शिक्षा प्रदान करने का आवाहन किया। ‘हाय रे सोशल मीडिया’ पर किया नृत्य आज की विशेष प्रस्तुति में दस वर्षीय इप्शिता अरोरा ने सोशल मीडिया का अत्यधिक प्रयोग हानिकारक विषय पर एक्ट एवं नृत्य के माध्यम से किया, जिसमें हाय रे सोशल मीडिया पर नृत्य एवं हर दो-दो मिनट में मोबाइल फ़ोन टॉपिक पर कॉमेडी एक्ट करके दर्शकों से हद्द से ज़्यादा सोशल मीडिया एडिक्ट न बनने का आवाह्न किया। कार्यक्रम का लाइव सेशन का संचालन आनंद किशोर चौधरी एवं प्रोग्राम का कोआर्डिनेशन अर्चना पाल के साथ संदीप उपाध्याय एवं आलोक अग्रवाल मुख्य रूप से है। हिन्दुस्थान समाचार/उपेन्द्र/राजेश-hindusthansamachar.in