नीति आयोग की टीम ने जनपद में तलाशी विकास और सौन्दर्यकरण की संभावनाएं
नीति आयोग की टीम ने जनपद में तलाशी विकास और सौन्दर्यकरण की संभावनाएं
उत्तर-प्रदेश

नीति आयोग की टीम ने जनपद में तलाशी विकास और सौन्दर्यकरण की संभावनाएं

news

हापुड़, 11 सितम्बर (हि.स.)। जनपद में विकास और सौन्दर्यकरण की संभावना तलाशने के लिए नीति आयोग की टीम ने शुक्रवार को जनपद के विभिन्न गांवों का निरीक्षण किया। आयोग की टीम ने निरीक्षण के बाद जनपद के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।? नीति आयोग के वरिष्ठ अधिकारी आरपी सिंह के नेतृत्व में नीति आयोग की टीम शुक्रवार को जनपद पहुंची। टीम ने जनपद में विकास और सौन्दर्यकरण कराए जाने की संभावना तलाशने के लिए कई गांवों का दौरा किया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी उदय सिंह भी उनके साथ रहे। टीम ने सबसे पहले गढ़मुक्तेश्वर और गंगा नदी के क्षेत्र का दौरा किया। इस दौरान गंगा नदी के घाटों को विकसित करने के लिए विस्तृत कार्य योजना तैयार की गई। लोक भारती के प्रांत संयोजक भारत भूषण गर्य ने अधिकारियों को क्षेत्र के एतिहासिक महत्व की जानकारी देते हुए घाटों के विकास के लिए अपने विचार व्यक्त किए। अधिकारियों ने उनके सुझावों को स्वीकार करते हुए गंगा के घाट की चौड़ाई 25 मीटर और लम्बाई सौ से डेढ़ सौ मीटर तक रखने के निर्देश दिए। श्री सिंह ने बताया कि गढ़मुक्तेश्वर और उसके आस-पास के क्षेत्र का विकास करने की जिम्मेदारी पर्यटन विभाग को सौंपी गई है। घाटों पर पार्क और कपड़े बदलने का कमरा स्थापित किया जाएगा। हाई मॉस्क लाइट, स्टोन बेंच और टैक्सी स्टैंड विकसित किया जाएगा। पीडब्ल्यूडी के वरिष्ठ अधिकारी उदय सिंह ने बताया कि कुटी-बहादुरगढ़ मार्ग के निर्माण के लिए स्वीकृति मिल चुकी है। नाबार्ड के सहयोग से इस मार्ग का निर्माण प्रारम्भ कर दिया जाएगा। उन्होंने आंगनबाड़ी जिला कार्यक्रम अधिकारी ज्ञानप्रकाश तिवारी के साथ गांवों का दौरा कर ग्रामीणों से जानकारी ली। इस दौरान पर्यटन विभाग की अधिकारी अनु चौधरी, प्रोजेक्ट प्रबंधक सुनील कुमार दोहरे, जल निगम के अधिकारी एसके जैन और एनएमसीजी के अधिकारी ओपी शर्मा, कृषि विभाग के उपनिदेशक वीबी सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी अर्चना गुप्ता, एबीएसए पंकज कुमार, संजीव कुमार शर्मा, मूलचन्द आर्य आदि उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/ विनम्र-hindusthansamachar.in