निलंबित आईपीएस मणिलाल पाटीदार मामले में एफआईआर, सीबीआई जांच की मांग
निलंबित आईपीएस मणिलाल पाटीदार मामले में एफआईआर, सीबीआई जांच की मांग
उत्तर-प्रदेश

निलंबित आईपीएस मणिलाल पाटीदार मामले में एफआईआर, सीबीआई जांच की मांग

news

लखनऊ, 10 सितम्बर (हि.स.)। समाजिक कार्यकर्ता और आरटीआई एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने गुरुवार को राज्य सरकार द्वारा निलंबित किये गए पुलिस अधीक्षक महोबा रहे मणिलाल पाटीदार के मामले में उनके तथा अन्य पुलिस अफसरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर इन मुकदमों की विवेचना सीबीआई से कराये जाने की मांग की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अन्य अधिकारियों को भेजी अपनी शिकायत में नूतन ने कहा कि पाटीदार के संबंध में जारी निलंबन आदेश से उनके तथा एसओ कबरई देवेन्द्र शुक्ला पर षड़यंत्र के तहत इन्द्रकांत त्रिपाठी से अवैध धन की वसूली करने का दवाब बनाया। फर्जी मुक़दमा दर्ज करने व जानमाल की धमकी देने के आरोप प्रथमदृष्टया स्थापित हो रहे हैं। इसी प्रकार पाटीदार तथा सिपाही राजकुमार कश्यप द्वारा व्यवसायी अमित तिवारी से अवैध धन की वसूली करने का दवाब बनाने के आरोप प्रथमद्रष्टया प्रमाणित हो रहे हैं। श्री पाटीदार तथा एसओ खरैली राजू सिंह पर अमित तिवारी से वसूली नहीं कर पाने पर उनकी गाड़ियों को अवैध चालान करने तथा उनके चालक को अवैध हिरासत में लेने के आरोप भी साबित हो रहे हैं। नूतन ने कहा कि अभी तक इन्द्रकांत तिवारी पर गोली से हुए हमले की भी एफआईआर दर्ज नहीं हुई। इसलिए उन्होंने इन सभी मामलों में एफआईआर दर्ज करवाये जाने और इन सभी मुकदमों की जांच सीबीआई से करवाने की भी मांग की है। उन्होंने कहा कि यदि ये कार्यवाईयां नहीं की जाती हैं तो भ्रष्टाचार के इतने गंभीर मामले में की गयी कार्रवाई आधी-अधूरी मानी जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक/रामानुज-hindusthansamachar.in