नारी शक्ति से खुद रूबरू होंगे मुख्यमंत्री योगी, नवरात्र से होगी शुरुआत
नारी शक्ति से खुद रूबरू होंगे मुख्यमंत्री योगी, नवरात्र से होगी शुरुआत
उत्तर-प्रदेश

नारी शक्ति से खुद रूबरू होंगे मुख्यमंत्री योगी, नवरात्र से होगी शुरुआत

news

-वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये महिलाओं से संवाद कर जानेंगे उनका हाल -महिला सांसदों व विधायकों के साथ ग्राम पंचायतों की प्रतिनिधियों से भी करेंगे संवाद -मिशन शक्ति से सुरक्षा व रोजगार के क्षेत्र में महिलाओं की भूमिका परखेगी सरकार लखनऊ, 14 अक्टूबर (हि.स.)। महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार को लेकर सरकार की हो रही किकिरी के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब खुद नारी शक्ति से रूबरू होने का निर्णय लिया है। इसके तहत वह महिलाओं से बात करेंगे। महिलाओं की समस्याओं और उसके समाधान को लेकर उनसे सुझाव भी मांगेंगे। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बुधवार को यहां बताया कि उत्तर प्रदेश में महिलाओं के लिए अब तक का सबसे बड़े अभियान मिशन शक्ति की शुरुआत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश की महिला जन प्रतिनिधियों, महिला समाज सेवियों और महिला कर्मियों से संवाद के साथ करेंगे। प्रवक्ता ने बताया कि महिलाओं के विकास और उनकी सुरक्षा को लेकर एक के बाद एक लगातार कदम उठा रही योगी सरकार नवरात्रि की शुरुआत के साथ मिशन शक्ति के जरिये समाज को बड़ा संदेश देने की तैयारी में है। प्रदेश की महिलाओं से जुड़े इस अभियान की अगुआई खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ कर रहे हैं। इतने बड़े स्तर पर महिलाओें के लिए विशेष अभियान चलाने वाली योगी सरकार प्रदेश की पहली सरकार है। उन्होंने बताया कि 17 अक्टूबर को बलरामपुर से शुरू हो रहे अभियान के पहले दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये प्रदेश की महिला जन प्रतिनिधियों के साथ बातचीत करेंगे। सीएम महिलाओं के लिए शुरू की गई राज्य सरकार की योजनाओं की चर्चा करने के साथ उनसे महिलाओं के अधिकतम विकास और सुरक्षा को लेकर सुझाव भी मांगेंगे। योगी आदित्यनाथ महिला जन प्रतिनिधियों से उनके क्षेत्रों में महिलाओं की स्थिति और महिलाओं के प्रति अपराध पर भी चर्चा करेंगे। प्रवक्ता ने बताया कि योगी सरकार ने साढ़े तीन साल के कार्यकाल में महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा रोजगार सृजन का काम किया है। केवल ग्रामीण इलाकों में ही चार लाख से ज्यादा महिलाओं को रोजगार उपलब्ध करा कर सरकार ने नई इबारत लिख दी है। प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में महिला शिक्षकों की संख्या बढ़ाने के साथ राज्य सरकार ने 58 हजार महिलाओं को बैंक सखी के रूप में तैनात कर समाज में महिलाओं की स्थिित को मजबूती दी है। महिलाओं के प्रति अपराध पर त्वरित और सख्त कार्रवाई कर योगी सरकार ने हर कदम पर सुरक्षा का एहसास कराया है। मिशन शक्ति के जरिये योगी सरकार की योजना महिलाओं की सुरक्षा के साथ उनके रोजगार, समाज में बराबरी के अधिकार और आर्थिक ढांचे में उनकी भूमिका को मजबूत करने की है। हिन्दुस्थान समाचार/पीएन द्विवेदी-hindusthansamachar.in