नसबंदी कराने के बाद भी महिला हुई गर्भवती, स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ कार्रवाई की मांग
नसबंदी कराने के बाद भी महिला हुई गर्भवती, स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ कार्रवाई की मांग
उत्तर-प्रदेश

नसबंदी कराने के बाद भी महिला हुई गर्भवती, स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ कार्रवाई की मांग

news

बड़ौत, 01अगस्त (हि.स.)। बागपत जिले के दोघट थाना क्षेत्र के हिम्मतपुर सूजती गांव में नसबंदी कराने के बाद भी एक महिला गर्भवती हो गई। महिला ने स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ न्यायालय में जाने की चेतावनी दी है। हिम्मतपुर सूजती निवासी प्रवीण ने अपनी पत्नी अनीता का गत वर्ष चार दिसम्बर को 2019 को बिनौली सीएचसी में नसबंदी कराई थी। महिला के चार बच्चे हैं जिनमे एक बेटा व तीन बेटियां हैं। पति मजदूरी करता है। महिला ने गांव में तैनात एएनएम व आशा के साथ बिनौली सीएचसी पहुंचकर अपनी नसबंदी करा ली थी ताकि और बच्चा न हो। लेकिन महिला को नसबंदी के बाद भी गर्भ ठहर गया। इस पर महिला के पति प्रवीण ने इसकी सूचना बिनौली सीएचसी पर दी। इस संबंध में कार्यवाहक सीएचसी प्रभारी बिनौली डाक्टर गुरुचरण ने बताया कि मामले की जानकारी कराई जाएगी। यदि ऐसा हुआ है तो महिला से एक क्लेम के लिए फार्म भरवाया जायेगा। इसके बाद महिला को 30 हजार रुपये दिए जाएंगे। इस मामले से सीएमओ बागपत को भी अवगत कराया जायेगा। वहीं महिला के पति प्रवीण ने मामले को लेकर न्यायालय में जाने की बात कही है। हिन्दुस्थान समाचार/ गौरव साहनी-hindusthansamachar.in