नवरात्रि महोत्सव पर भी लग सकता है कोरोना का ग्रहण
नवरात्रि महोत्सव पर भी लग सकता है कोरोना का ग्रहण
उत्तर-प्रदेश

नवरात्रि महोत्सव पर भी लग सकता है कोरोना का ग्रहण

news

बांदा,07 सितम्बर (हि.स.)। बुंदेलखंड के जनपद बांदा में क्वार की नवरात्रि में विशाल नवरात्रि महोत्सव होता है।लगभग 300 पंडाल सजाए जाते हैं लेकिन अन्य तीज त्योहारों की तरह इस महोत्सव पर भी कोरोना के ग्रहण लग सकता है। आगामी 17 अक्टूबर से नवरात्रि महोत्सव प्रारंभ हो रहा है।इस महोत्सव को मनाने के लिए दुर्गा पंडाल समितियों के कार्यकर्ताओं द्वारा 2 महीने पहले से तैयारी शुरू कर दी जाती है।अकेले बांदा शहर में 300 दुर्गा पंडालों की स्थापना की जाती है और 9 दिनों तक पूजा अर्चना के बाद अंतिम दिन जब विसर्जन होता है तो समूचा जनपद मां जगदंबे को विदाई के लिए उमड़ पड़ता है।यह बांदा का प्रमुख धार्मिक उत्सव है ,इस वर्ष वैश्विक महामारी कोविड-19 को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने तमाम दिशा निर्देश जारी कर रखे हैं और इसको देखते हुए लगता है कि दुर्गा महोत्सव पर भी कोरोना का ग्रहण लग सकता है। केंद्रीय समिति ने मांगी अनुमति क्वार की नवरात्रि और शोभा यात्रा का संचालन करने के लिए जिला मुख्यालय में बांदा बांदा केंद्रीय पूजा महोत्सव समिति बनी हुई है इस समिति के अध्यक्ष अमित सेठ भोलू ने आज जिला अधिकारी से मिलकर बताया कि इस त्यौहार को मनाने के लिए कार्यकर्ता 2 महीने पहले से तैयारी करते हैं।दुर्गा प्रतिमाओं को बाहर से मंगाने के लिए पहले से बुकिंग करानी पड़ती है, इसके अलावा लाइटिंग व पंडाल सजाने के लिए भी पहले से आर्डर दिए जाते हैं इसलिए त्योहार को मनाने के लिए शीघ्र दिशा निर्देश, गाइडलाइन जारी की जाए ताकि कार्यकर्ता अपने स्तर से इसकी तैयारी शुरू कर सकें। इस बार नहीं आए मूर्तिकार जनपद मुख्यालय में नवरात्रि महोत्सव के दौरान पंडालों में स्थापित की जाने वाली दुर्गा प्रतिमाएं कोलकाता से आए मूर्तिकारों द्वारा बनाई जाती है।इन मूर्तियों को बनाने के लिए वह 6 महीने पहले से तैयारी करते हैं लेकिन कोरोना की मार मूर्तिकारों पर भी पड़ी है। जिससे यहां कोई मूर्ति तैयार नहीं है हालांकि बड़ी संख्या में लोग जबलपुर से दुर्गा प्रतिमाएं मंगाते हैं अब देखना है कि शासन प्रशासन का इस धार्मिक महोत्सव पर क्या निर्णय होता है। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/मोहित-hindusthansamachar.in