नगर निगम कूडे़ के स्थायी समाधान के लिए बनाएगा दस गार्बेज फैक्टरियां
नगर निगम कूडे़ के स्थायी समाधान के लिए बनाएगा दस गार्बेज फैक्टरियां
उत्तर-प्रदेश

नगर निगम कूडे़ के स्थायी समाधान के लिए बनाएगा दस गार्बेज फैक्टरियां

news

-पहले चरण में बनेंगी पांच फैक्टरी गाजियाबाद,07 सितम्बर (हि.स.)। दिल्ली से सटे गाजियाबाद में सबसे बड़ी समस्या के निदान के लिए एक कार्य योजना बनाई है जिसके तहत निगम के पांचों जोनों में दस गार्बेज फैक्टरियां स्थापित की जाएंगी जिसके लिए स्थानों का चिन्हीकरण खुद नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर कर रहे हैं। अभी तक तीन स्थानों का चयन किया जा चुका है। प्रथम चरण में पांच गार्बेज फैक्टरियां स्थापित की जाएंगी। नगर आयुक्त ने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में कि ये कार्बेज फैक्टरियां पूरी तरह से अत्याधुनिक होगी और इनके स्थापित होने के बाद अगले 20 साल कूडे़ के निस्तारण की समस्या नहीं आएगी। उन्होंने बताया कि अब करीब 16 सौ मीट्रिक टन कूडे़ का उत्सर्जन प्रतिदिन होता है जबकि इन फैक्टरियाें की क्षमता दो हजार मीट्रिक टन कूड़ा निस्तारित करने की होगी। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में पांच फैक्टरियां बनाई जाएंगी जिनमें तीन का स्थान चिन्हित कर लिया गया। सिटी जोन के लिए सिहानी, दूसरी रेड मंडी नंदग्राम रोड तथा तीसरी के लिए मोहन नगर में स्थान का लगभग फाइनल हो गया है। उन्होंने बताया कि इन फैक्टरियाें का संचालन पूरी तरह से अत्याधुनिक तरीके से होगा। जिन्हें कन्वेयर बैल्ट के माध्यम से कूड़े का निस्तारण की स्थिति तक पहुंचाया जाएगा। इसके लिए ड्राई कूड़ा व गीला कूड़ा अलग-अलग सेग्रीगेटर के माध्यम से छाटा जाएगा। इसके बाद गीले कूडे़ से खाद बनाई जाएगी जबकि सूखे कूडे़ जैसे लोहा, प्लास्टिक आदि को स्क्रैप में बेचा जाएगा। उन्होंने कहा कि इन फैक्टरियाें के बनने के बाद महानगर में कूडे़ के समस्या का स्थायी रूप से निस्तारण हो जाएगा। उन्हाेंने बताया कि इसके बाद शहर में कूड़ा डलान भी समाप्त हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि इससे पर्यावरण को स्वच्छ करने में भी सहायता मिलेगी। हिन्दुस्थान समाचार/फरमान अली / रामानुज-hindusthansamachar.in