नए एप्लीकेशन से बिना छुए होगी रेल टिकटों की जांच
नए एप्लीकेशन से बिना छुए होगी रेल टिकटों की जांच
उत्तर-प्रदेश

नए एप्लीकेशन से बिना छुए होगी रेल टिकटों की जांच

news

लखनऊ, 23 जुलाई (हि.स.)। सेन्टर फॉर रेलवे इनफार्मेशन सिस्टम (क्रिस) ने नया एप्लीकेशन विकसित किया है। इससे अब रेलवे के आरक्षित टिकटों की जांच बिना छुए और क्यूआर कोड से होगी। मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी ने पंकज कुमार ने गुरुवार को बताया कि रेलवे अब आरक्षित टिकटों को बिना छुए हुए जांच की नई व्यवस्था लागू करेगा। सभी रेलवे जोन के लिए क्रिस ने एक नया एप्लीकेशन बनाया है। इस एप्लीकेशन को डाउनलोड करने वाले टीटीई क्यूआर कोड से आरक्षित टिकटों की पूरी डिटेल जांच सकेंगे। यात्रियों के मोबाइल के लिंक और क्यूआर कोड के मिलान से उसकी यात्रा का सारा विवरण उपलब्ध हो जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए रेलवे आरक्षित टिकटों को बिना छुए हुए जांच की नई व्यवस्था सभी जोन में लागू करने के लिए तैयारियां तेजी से कर रहा है। नई व्यवस्था के तहत यात्रियों के आरक्षित टिकट का क्यूआर कोड यूआरएल लिंक के जरिए एसमएस करके मोबाइल पर भेजा जाएगा। रेलवे स्टेशनों पर प्रवेश करते समय या रेल में चेकिंग के दौरान यात्रियों को एसएमएस में उपलब्ध क्यूआर कोड के यूआरएल पर क्लिक करना होगा। ऐसा करते ही यात्री के मोबाइल ब्राउजर पर क्यूआर कोड दिखने लगेगा। टिकट निरीक्षक यात्री के मोबाइल पर दिख रहे इस क्यूआर कोड को अपने मोबाइल पर स्कैन कर सकेगा। क्यूआर कोड स्कैनर को गूगल प्ले स्टोर या आईओएएस प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी ने बताया कि क्यूआर कोड को जनरेट करने वाले लिंक की प्रक्रिया अन्तिम दौर में है। जल्द ही यह सुविधा यात्रियों और टीटीई दोनों के लिए लागू कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि आरक्षित टिकटों की यह प्रणाली अन्यंत आधुनिक होने के साथ कोरोना वायरस से बचने का बहुत प्रभावी तरीका है। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक/संजय-hindusthansamachar.in