धर्म नगरी में धूमधाम से मनाई गई गोपाष्टमी पर्व, मंत्री-सांसद और डीएम ने चना-गुड़ खिलाकर किया गौ पूजन
धर्म नगरी में धूमधाम से मनाई गई गोपाष्टमी पर्व, मंत्री-सांसद और डीएम ने चना-गुड़ खिलाकर किया गौ पूजन
उत्तर-प्रदेश

धर्म नगरी में धूमधाम से मनाई गई गोपाष्टमी पर्व, मंत्री-सांसद और डीएम ने चना-गुड़ खिलाकर किया गौ पूजन

news

- सूबे में पहली बार सरकारी तौर पर मनाया गया गोपाष्टमी का पर्व चित्रकूट,22 नवम्बर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की सत्ता संभालने के बाद से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पूरा फोकस गौवंशों के संरक्षण और संवर्धन पर है। इतना ही नहीं यूपी में पहली बार ऐसा हुआ है गोपाष्टमी का पर्व पूरे प्रदेश में धूमधाम के साथ मनाने के लिए सरकारी आदेश भी जारी हुआ है। जिसके क्रम में धर्म नगरी चित्रकूट में गोपाष्टमी का पर्व मनाया गया। नगर पालिका कर्वी द्वारा संचालित कान्हा गौशाला में पहुंच प्रदेश के लोक मनिर्माण राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय,बांदा-चित्रकूट सांसद आर के सिंह पटेल एवं डीएम शेषमणि पांडेय आदि ने गायों का पूजन किया। इसके बाद हरा चारा ,चना और गुड का प्रसाद खिलाकर विश्व कल्याण का आर्शीवाद लिया। आपको बता दे कि, गौवंशों के संरक्षण और संवर्धन प्रति योगी सरकार का कितना लगाव है उसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सूबे में सत्ता की कमान संभालने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट की पहली बैठक में ही अवैध बूचड़खानों पर रोक लगाने का आदेश दिया था। इसके अलावा सरकार द्वारा पूरे प्रदेश में करीब 5000 से ज्यादा निराश्रित गोवंश आश्रय केन्द्रो का निर्माण कराया गया। इसके अलावा योगी सरकार द्वारा सूबे में पहली बार पूरे प्रदेश में धूमधाम के साथ 22 नवंबर को सभी गौशालाओं पर गोपाष्टमी का पर्व मनाये जाने का आदेश जारी किया गया। शासन के आदेश और डीएम शेषमणि पांडेय के निर्देश के बाद चित्रकूट जिले की सभी कान्हा गौशालाओं को खास तौर पर सजाया गया था। रविवार को गोपाष्टमी के उपलक्ष्य पर नगर पालिका कर्वी की गौशाला में पहुंचकर सूबे के लोक निर्माण राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, बांदा-चित्रकूट सांसद आर के सिंह पटेल, जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय ने पूरे विधि-विधान के साथ गौ पूजन किया। इस मौके पर मंत्री चंद्रिका उपाध्याय ने कहा कि योगी सरकार ने गायों के संरक्षण के लिए जितना काम किया है उतना काम इससे पहले कभी नहीं हुआ। पहली बार गोवंश की कटान करने वालों को होने वाली सजा को बढ़ाकर 10 साल किया गया है और जुर्माना भी बढ़ाया गया है। बताया कि इस कार्यक्रम के जरिए गौ पालकों को सरकार ये संदेश देने की कोशिश कर रही है कि गाय केवल दूध नहीं देती बल्कि गाय के गोबर से भी जो उत्पाद बनते हैं अब उनकी बहुत मांग है। वहीं बांदा-चित्रकूट सांसद आर के सिंह पटेल ने कहा कि भारत में गायों के पूजन की प्राचीन परम्परा रहीं है। गौवंश हमेशा सुख-समृद्धि के प्रतीक रहे है। भाजपा सरकार ने गौवंशों के संरक्षण की दिशा में ऐतिहासिक कार्य किये है। सभी गौ पालक सरकार का सहयोग करें ताकि बुंदेलखंड के अभिशाप अन्ना प्रथा को हमेशा के लिए खत्म किया जा सके। इसके अलावा जिलाधिकारी ने कहा कि चित्रकूट जिले के 300 से अधिक गौ आश्रय स्थल बनाए गए हैं। उनमें सभी गोवंशो के भरण पोषण आदि की व्यवस्थाएं की जा रही हैं। आज सभी गो आश्रय स्थलों में अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों द्वारा गोवंशो की पूजा, अर्चन तथा हरा चारा आदि खिलाया जा रहा है इसके साथ ही साथ साफ-सफाई का भी पर्व मनाया जा रहा है। कहा कि गोपाष्टमी पर्व इस क्षेत्र के लिए इसलिए महत्वपूर्ण है कि जो अन्ना प्रथा चल रही है उसमें सभी की जन सहभागिता से अन्ना प्रथा को समाप्त करना है आदिकाल से गायें हमारी पूरी संस्कृति का अंग रही है किसी न किसी रूप में हमारे लिए उपयोगी रही हैं। इस अवसर पर सांसद प्रतिनिधि शक्ति प्रताप सिंह, व्यापार मंडल के मंडल उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद कर्वी नरेंद्र मोहन मिश्र, सभासद पुष्पा सोनी, सीमा निगम, सफाई निरीक्षक कमलाकांत शुक्ला, राजेंद्र राम, गौशाला प्रभारी सुभाष गुप्ता सहित संबंधित अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार /रतन-hindusthansamachar.in