दो सप्ताह में स्थिति को सुधारें अन्यथा कार्रवाई की जायेगी : जिलाधिकारी
दो सप्ताह में स्थिति को सुधारें अन्यथा कार्रवाई की जायेगी : जिलाधिकारी
उत्तर-प्रदेश

दो सप्ताह में स्थिति को सुधारें अन्यथा कार्रवाई की जायेगी : जिलाधिकारी

news

सोसायटी के निष्क्रिय सचिवों की बर्खास्तगी का प्रस्ताव प्रेषित करने के दिए निर्देश झांसी, 17 सितम्बर(हि.स.)। जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने गुरुवार को विकास भवन सभागार में सहकारिता विभाग की बिन्दुवार समीक्षा करते हुए अब तक की प्रगति पर असंतोषजनक व्यक्त किया। उन्होंने शाखा व समिति द्वारा ऋण वितरण की कमी पर भी नाराजगी व्यक्त की और लक्ष्य के सापेक्ष ऋण वितरण में तेजी लाये जाने के निर्देश भी दिये। उन्होंने शाखाओं द्वारा लक्ष्य के सापेक्ष वसूली में भी सुधार लाने के निर्देश देते हुये कहा कि वसूली में अनेक शाखाओं व समितियों की स्थिति अच्छी नहीं है। दो सप्ताह में स्थिति को सुधारे अन्यथा कार्रवाई की जायेगी। जिलाधिकारी ने ऋण वितरण की शाखावार व समितिवार समीक्षा करते हुये कम ऋण वितरण वाली शाखओं और समिति के शाखा प्रबन्धकों को आड़े हाथों लेते हुये निर्देश दिये कि लक्ष्य के सापेक्ष में दो सप्ताह में ऋण वितरण किया जाये। शाखा व समिति समथर की समीक्षा में 256.00 लाख के सापेक्ष ऋण वितरण मात्र 111.83 लाख होने पर सख्त नाराजगी व्यक्त की और सचिव हरिओम त्यागी के शिथिल कार्यप्रणाली पर निलम्बित किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने शाखा व समिति मण्डी में भी कम ऋण वितरण पर नाराजगी व्यक्त की और लक्ष्य 328.00 लाख के सापेक्ष 120.15 लाख वितरण जो 36.63 प्रतिशत है इसे बढ़ाये जाने के निर्देश दिये। समीक्षा में शाखा व समिति नन्दनपुरा, गुरसरांय, रानीपुर में भी लक्ष्य के सापेक्ष ऋण वितरण में तेजी लाये जाने के निर्देश दिये। जिला सहकारी बैंक लिमिटेड की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने सहकारी देयो की वसूली की समितिवार समीक्षा की और लक्ष्य के सापेक्ष कम वसूली पर शाखा व समिति गरौठा, नन्दनपुरा, मण्डी, समथर व बबीना को फटकारते हुये वसूली बढ़ाये जाने के निर्देश दिये। बैठक में एकीकृत सहकारी विकास परियोजना (आईसीडीपी) के कार्यो की समीक्षा करते हुये जिलाधिकारी ने कराये गये कार्यो की जांच के आदेश दिये। उन्होंने कहा कि गुणवत्ता के साथ कोई समझौता नहीं होगा यदि निर्माण कार्य की जांच में दोयम दर्जे का निर्माण कार्य मिलता है तो कार्यवाही की जायेगी। बैठक में उपस्थित अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक लिमिटेड जयदेव पुरोहित ने भी समीक्षा दौरान बहुमूल्य सुझाव दिये। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी शैलेष कुमार, संयुक्त निबंधक उदयभान, सहायक आयुक्त केपी सिंह, महाप्रबन्धक डीसीबी नन्द किशोर, उप महाप्रबन्धक राजीव कौशिक, आईसीडीपी महाप्रबन्धक अखिलेश कुमार सहित एडीसी, एडीएम आदि उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/महेश/राजेश-hindusthansamachar.in