दिन में नौकरी, शाम को गरीब बच्चों के जीवन में शिक्षा का उजाला फैला रहे इंजीनियर नरेन्द्र
दिन में नौकरी, शाम को गरीब बच्चों के जीवन में शिक्षा का उजाला फैला रहे इंजीनियर नरेन्द्र
उत्तर-प्रदेश

दिन में नौकरी, शाम को गरीब बच्चों के जीवन में शिक्षा का उजाला फैला रहे इंजीनियर नरेन्द्र

news

प्रयागराज, 22 नवम्बर (हि.स.)। नौकरी व परिवार के बाद भी समाज सेवा के लिए समय निकाल लिया जाए, ऐसे बहुत कम लोग ही मिलते हैं। वह भी गरीबों के शिक्षा स्तर को बढ़ाने के लिए समय निकालना हो तो ज्यादा लोग कन्नी काट जाएंगे। लेकिन, इंजीनियर नरेन्द्र सिंह ने नौकरी करते हुए भी झोपड़ी में रहने वाले लोगों के बच्चों की शिक्षा का स्तर बढ़ाने का बीड़ा उठा लिया है। दिन में आरएमएस विभाग में नौकरी और शाम को किसी पेड़ के नीचे बच्चों को नि:शुल्क पढ़ाने का काम। यही दिनचर्या में हो गया है नेक दिल इंसान नरेन्द्र सिंह के। रविवार शाम को बातचीत दौरान जानकारी देते हुए बताया कि विगत काफी दिनों से समाज सेवा के इस कार्य को कर रहा हूं। मूलरूप से चित्रकूट निवासी देवेन्द्र सिंह इंजीनियरिंग की परीक्षा पूरी करने के बाद अपने गांव में गरीब बच्चों को पढ़ाते थे। लेकिन, नौकरी में आने के बाद समय कम मिलता है। उन्होंने बताया कि वह शहर के जार्जटाउन में सोनल अपार्टमेंट में रहतो हैं। आरएमएस विभाग में तैनात हैं। शहर में झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले गरीब बच्चों को पढ़ाने जाता हैं। रविवार होने की वजह से आज कौंधियारा के ढोढरी गांव में बच्चों को निःशुल्क शिक्षण कार्य करने के लिए आए हैं। उन्होंने बताया कि समाज के गरीब बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देना उन्हें बहुत अच्छा लगता है। उनके घर के बच्चे बड़े हो गए हैं। नौकरी से जो भी समय बच जाता है। वह गरीब बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने काम विगत छह वर्ष से कर रहे हैं। इन गरीब बच्चों को पढ़ाने के बाद बहुत सुकून मिलता है। हिन्दुस्थान समाचार/राम बहादुर/संजय-hindusthansamachar.in