त्यौहारों को देखते हुए कानून व्यवस्था मजबूत करने के प्रबंध
त्यौहारों को देखते हुए कानून व्यवस्था मजबूत करने के प्रबंध
उत्तर-प्रदेश

त्यौहारों को देखते हुए कानून व्यवस्था मजबूत करने के प्रबंध

news

हापुड़, 30 जुलाई (हि.स.)। जनपद में कानून व्यवस्था को मजबूत करने के लिए पुलिस और प्रशासन ने विशेष व्यवस्था की है। प्रदेश में राम मन्दिर के भूमि पूजन के कार्यक्रम और आगामी त्यौहारों के अवसर पर जनपद में शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह कदम उठाया गया है। इस व्यवस्था के अनुसार जनपद को दो सुपर जोन, तीन जोन और नौ सेक्टर में बांटा गया है। राम मन्दिर निर्माण ट्रस्ट ने पांच अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के शिलान्यास के लिए भूमि पूजन के कार्यक्रम की घोषणा की है। पूरे प्रदेश में कोरोना संक्रमण बढ़ना भी समस्या बन गई है। पुलिस के सामने इन दोनों कारणों से जनपद में कानून व्यवस्था बनाए रखना चुनौती बनी हुई है। बकरीद और रक्षा बंधन आदि पर्वों पर शांति बनाए रखना भी पुलिस की प्राथमिकता है। शासन ने राम मन्दिर के भूमि पूजन, कोरोना संक्रमण और त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए जनपद प्रशासन और पुलिस अधिकारियों को पत्र लिखकर सुरक्षा के मजबूत प्रबंध करने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर सुरक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाए रखने के उद्देश्य से जनपद को दो सुपर जोन, तीन जोन और नौ सेक्टर में बांटा गया है। जिलाधिकारी ने थाना स्तर पर मजिस्ट्रेटों की तैनाती कर दी है। सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने बताया कि अयोध्या में पांच अगस्त को राम जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम घोषित किया गया है। यह बहुत ही भावनात्मक मामला है। इस मामले को लेकर जनपद में कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने के लिए विशेष प्रबंध किए जाने आवश्यक हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के निर्देश पर एक अगस्त से जनपद में जोनल व्यवस्था लागू की जाएगी। सुरक्षा व्यवस्था को सुव्यवस्थित बनाए रखने के लिए लगभग डेढ़ हजार पुलिस कर्मियों को लगाया गया है। सुपर जोन में उपजिलाधिकारी और अपर पुलिस अधीक्षक जनपद की घटनाओं पर निगरानी रखेंगे। तहसीलवार हापुड़, गढ़ और धौलाना तीन जोन बनाए गए हैं. जिनमें अन्य प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी अलग-अलग जोन की घटनाओं पर निगरानी रखेंगे। जनपद के नौ थानों को सेक्टर बनाया गया है। प्रत्येक सेक्टर का प्रभारी थानाध्यक्ष को बनाया गया है। थाना स्तर पर किया क्यूआरटी का गठन- जनपद के नौ थानों सहित पुलिस कार्यालय के लिए क्यूआरटी की टीमों का गठन कर तैनात किया गया है। प्रत्येक थाने पर रात के समय दो तथा दिन में क्यूआरटी की एक-एक टीम की तैनात की जाएगी। प्रमुख स्थानों पर तैनात होगा पुलिस बल- जनपद से 135 अतिसंवेदनशील इलाकों के 972 धार्मिक स्थल चिह्नित किए गए हैं। इन स्थानों पर निरंतर पुलिस बल तैनात रहेगा। हिन्दुस्थान समाचार/विनम्र व्रत त्यागी-hindusthansamachar.in