झांसी में टूटे अब तक के सारे रिकाॅर्ड, एक दिन में निकले 162 नए मरीज
झांसी में टूटे अब तक के सारे रिकाॅर्ड, एक दिन में निकले 162 नए मरीज
उत्तर-प्रदेश

झांसी में टूटे अब तक के सारे रिकाॅर्ड, एक दिन में निकले 162 नए मरीज

news

- जिले में कोरोना मीटर पहुंचा 1767 की संख्या पर, एक्टिव मरीजों की संख्या 913 झांसी 24 जुलाई(हि.स.)। जिले में शुक्रवार को झांसी के अब तक के सारे रिकाॅर्ड्स ध्वस्त हो गए हैं। महज 24 घंटों में जिले में मरीजों की सबसे बड़ी संख्या सामने आई है। जिले में शुक्रवार को 162 नए मरीज सामने आए हैं। इसी के साथ ही जिले में कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की संख्या 1767 पर जा पहुंची है। इसके साथ ही रिकवरी रेट ने भी उछाल भरते हुए 45 प्रतिशत के पार जा पहुंचा है जो काफी राहत देने वाला है। जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने शुक्रवार की शाम जानकारी देते हुए बताया कि गुरुवार को जिले के विभिन्न कंटेनमेंट जोन और जिला कारागार से कुल 380 नमूने कोविड-19 टेस्ट को लिए गए थे। इनमें से 162 नमूने कोविड-19 पाॅजिटिव पाए गए हैं। यह संख्या जिले में अब तक के सारे रिकाॅर्ड्स तोड़ रही है। इतनी ज्यादा संख्या में मरीज पहली बार सामने आए हैं। आज टेस्ट की संख्या के करीब आधे सैंपल पाॅजिटिव आए हैं। ये संख्या चैकाने वाली है। हालांकि इसमें जिले के पुराने कंटेनमेंट जोन के साथ जिला कारागार के टेस्ट भी जुड़े हुए हैं। इसके साथ ही जिले में कुल कोरोना मरीजों की संख्या अब 1767 जा पहुंची है। वहीं आज 129 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। कुल मिलाकर अब तक कुल 800 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर जा चुके हैं। हालांकि आज एक मरीज की मौत के साथ कुल मौतों का आंकड़ा 54 जा पहुंचा है। यह एक राहत की बात है कि कोरोना से मरने वालों की संख्या में एकाएक कमी आ गई है। यह प्रतिशत अब 3 पर जा पहुंचा है। जो कभी 10 पर जा पहुंचा था। जनपद में इसके साथ ही कुल एक्टिव पाॅजिटिव मरीजों की संख्या 913 हो गई है। जोकि बुन्देलखण्ड के सभी सातों जनपदों में सर्वाधिक है। इन एक्टिव मामलों में 798 मरीज ऐसे हैं जिनमें कोरोना के लक्षण नहीं हैं। लेकिन कोरोना पाॅजिटिव हैं। जबकि 115 मरीजों में लक्षण देखे जा सकते हैं। इनमें से भी 89 में हल्के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। जबकि 26 गंभीर मरीज हैं। रिकवरी रेट में आया उछाल जिले में लगातार बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या के साथ आज एक अच्छा संकेत भी सामने आया है। रिकवरी रेट में खासी वृद्धि हुई है। आज इसका प्रतिशत सुधार की ओर बढ़ते हुए 45.2 प्रतिशत पर जा पहुंचा है। यह जनपद के लिए राहत की सांस लेने के लिए काफी माना जा सकता है। जबकि कभी रिकवरी रेट 30 से लेकर 35 प्रतिशत पर था। हिन्दुस्थान समाचार/महेश/मोहित-hindusthansamachar.in