झमाझम बरसात ने लोगों को गर्मी से दिलाई राहत, किसान निराश
झमाझम बरसात ने लोगों को गर्मी से दिलाई राहत, किसान निराश
उत्तर-प्रदेश

झमाझम बरसात ने लोगों को गर्मी से दिलाई राहत, किसान निराश

news

हापुड़, 30 जुलाई (हि. स.)। कई दिन से हो रही भंयकर गर्मी से गुरुवार सुबह हुई झमाझम बरसात ने लोगों को राहत दिलाई। इस बरसात के बाद जहां नागरिकों को गर्मी से निजात मिली, लेकिन किसानों को लगभग एक घंटे तक ही बरसात होने के कारण निराशा हुई। लगभग एक घंटे की बरसात से फसलों को बहुत लाभ तो नहीं हो पाया, लेकिन राहत अवश्य मिली। गुरुवार सुबह आसमान में बादलों की संख्या बढ़ने से नागरिकों को इन्द्र देव की कृपा होने की आशा जगी थी। इन्द्र देव ने उन्हें निराश भी नहीं किया। लगभग दस बरसात होनी शुरू हुई जो 12 बजे तक चलती रही। शुरुआत में तो काफी देर तक हल्की बूंदाबांदी होती रही। लगभग एक घंटे बाद मौसम ने अपना रंग दिखाया और काफी तेज शुरू हो गई जो लगभग एक घंटे तक होती रही। बुधवार को भी पूरे दिन आसमान में गहरे बादल छाए रहे थे। आसमान में बादलों का घनत्व बढ़ता देख और दिल्ली एवं आसपास के क्षेत्र में बरसात होने की जानकारी मिलने के बाद नागरिकों को आशा जगी थी, लेकिन बुधवार ने उन्हें निराश ही किया। बरसात नहीं होने के बावजूद गर्मी से थोड़ी राहत अवश्य मिली। गुरुवार को हुई बरसात से किसानों को बहुत लाभ तो नहीं मिल पाया है लेकिन कुछ राहत तो अवश्य मिली है। जनपद हापुड़ में अधिकतर इस मौसम में अधिकतर क्षेत्र में धान की खेती की जाती है। धान की फसल को काफी अधिक पानी की आवश्यकता होती है। धान और ईख के खेतों में तो इस बरसात से बहुत अधिक राहत नहीं मिली है, लेकिन चारे की फसल को राहत अवश्य मिल गई। किसानों का कहना है कि तीन-चार बार जल्दी-जल्दी कम से कम दो-तीन घंटे तक मूसलाधार बरसात होने के बाद ही धान और ईख की खेती करने वाले किसानों को राहत मिल सकेगी। हिन्दुस्थान समाचार/विनम्र व्रत त्यागी-hindusthansamachar.in