ज्यादा से ज्यादा मरीजों का सरकारी चिकित्सालयों में ही कराया जाए इलाज-सुरेश खन्ना
ज्यादा से ज्यादा मरीजों का सरकारी चिकित्सालयों में ही कराया जाए इलाज-सुरेश खन्ना
उत्तर-प्रदेश

ज्यादा से ज्यादा मरीजों का सरकारी चिकित्सालयों में ही कराया जाए इलाज-सुरेश खन्ना

news

-आवश्यक होने ही मरीज को भेजा जाए निजी चिकित्सालयों में लखनऊ, 12 सितम्बर (हि.स.)। प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा तथा जनपद लखनऊ के प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना ने जनपद में कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि कोविड से प्रभावित मरीज को उसके स्वास्थ्य को देखते हुए समुचित चिकित्सालय में व्यवस्थित ढंग से चिकित्सीय व्यवस्था उपलब्ध कराते हुए उसका इलाज कराया जाए। उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा मरीजों को सरकारी चिकित्सालयों के माध्यम से ही इलाज कराया जाए, यदि आवश्यक हो तभी मरीज को प्राइवेट चिकित्सालयों में भेजा जाए। उन्होंने शनिवार को समीक्षा बैठक में कहा कि मरीज को कम से कम समय में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने निर्देश दिये कि एम्बुलेंस की व्यवस्था व पर्याप्त दवाओं की उपलब्धता अग्रिम में होनी चाहिए। बैठक में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत जनपद में आनलाइन पोर्टल पर प्राप्त 172 निजी चिकित्सालयों के आवेदनों में से 133 आवेदन स्वीकृति किये गये है। आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी को योजना का लाभ मिलने में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए । उन्होंने कहा कि जिस चिकित्सालय के विरुद्ध आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी के कार्ड पर इलाज में किसी प्रकार की शिकायत मिलने पर सम्बन्धित चिकित्सालय के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। सुरेश कुमार खन्ना ने कर-करेत्तर राजस्व प्राप्तियां की समीक्षा करते हुए पाया कि जनपद में वर्तमान वित्तीय वर्ष में माह अगस्त 2020 में 3152 करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्ति हुई है जो पिछले साल माह अगस्त की प्राप्तियों 2848 करोड़ रुपये के सापेक्ष 304 करोड़ रुपये अधिक है। उन्होंने निर्देश दिए कि लक्ष्य के सापेक्ष वसूली सुनिश्चित की जाए। ई स्टाम्प की उपलब्धता को सरल बनाया जाए। राजस्व वसूली के अंतर्गत निरंतर समीक्षा की जाए। खनन पट्टों की समीक्षा करते हुए राजस्व वसूली की जाए। लोक निर्माण विभाग की समीक्षा करते हुए उन्होंने निर्देश दिये कि लम्बित कार्यों को समयावधि के अंतर्गत पूरा करते हुए गढ्ढा मुक्त अभियान चलाकर 15 दिसम्बर तक सड़कों को दुरुस्त करें। प्रभारी मंत्री को समीक्षा के दौरान बताया गया कि राष्ट्रीय ग्रामीण अजीविका मिशन के अन्तर्गत 533 समूहों का गठन कर 5863 परिवारो कों अच्छादित किया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत 1164 परिवारों में से 1164 को प्रथम किस्त, 1,161 को द्वितीय किस्त व 1155 को तृतीय किस्त स्वीकृति करते हुए 1154 आवास पूर्ण कराये गये प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अन्तर्गत सूडा द्वारा 11009 के सापेक्ष 11,009, आवास एवं शहरी नियोजन के अन्तर्गत 44,503 के सापेक्ष 11,304, बैंकों द्वारा 35,775 के सापेक्ष 9,959 लोगों का लाभन्वित किया गया। ग्रामीण पेयजल योजना के अन्तर्गत 05 योजनायें सितम्बर माह तक पूर्ण हो जाने से 18,512 लोगों को लाभ प्राप्त होगा। मुख्यमंत्री कन्या सुमगला योजना के अंतर्गत जनपद में 2,041 आवेदन पत्र प्राप्त हुए जिसमें से 13 प्रथम श्रेणी, 20 द्वितीय श्रेणी के है। वृद्धावस्था-किसान पेंशन योजना के अंतर्गत 93228 लाभार्थियों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना एवं पेंशन योजना से लाभान्वित या गया है। पति की मृत्यु के उपरांत महिला पेंसन के अंतर्गत 55,343 महिलाओं को पेंशन की धनराशि भेजी दी गई है। वृद्धावस्था पेंसन योजना के अंतर्गत 16,254 लाभार्थियों को प्रथम किस्त जारी की जा चुकी है। शादी अनुदान के अंतर्गत प्रभारी मंत्री ने कहा कि पात्र लाभार्थियों की 10-10 जोड़ों की शादी कराकर लाभान्वित किया जाये। नगर विकास विभाग की समीक्षा करते हुए मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि सफाई के सम्बन्ध में नगर के सभी 08 जोनों में सफाई से सम्बन्धित प्रस्तुतिकरण करते स्वच्छता और कूड़ा कलेक्शन के सम्बन्ध में लोगों को जागरूक किया जाए। उन्होंने स्मार्ट सिटी, अमृत योजना, लखनऊ की यातायात व्यवस्था सहित विभिन्न योजनाओं की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि वृक्षारोपण के कार्य के अंतर्गत पौधों को सुरक्षित स्थानों पर ही लगाया जाए। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/राजेश-hindusthansamachar.in