जिलाधिकारी ने लाइट, पंखे व एसी बंद करके जनता की समस्या सुनी
जिलाधिकारी ने लाइट, पंखे व एसी बंद करके जनता की समस्या सुनी
उत्तर-प्रदेश

जिलाधिकारी ने लाइट, पंखे व एसी बंद करके जनता की समस्या सुनी

news

गाजियाबाद, 10 सितम्बर (हि.स.)। जिलाधिकारी डॉ. अजय शंकर पांडेय ने गुरूवार को कलेक्ट्रेट के निरीक्षण के दौरान अनोखी मिसाल पेश की। उन्होंने अपने कक्ष के लाईट, पंखे व एसी खुद बंद किए और अन्य अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे दफ्तर पहुंचने पर खुद लाईट, पंखे व एसी चलाएं और जब वहां से जाए तो उसे खुद ही बंद करें। ताकि बिजली का अपव्यय होने से बच सके। साथ ही उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि यदि किसी कारण वश अधिकारी की उपस्थिति के लाईट, पंखे व एसी चलेंगे तो अधिकारी को उतनी ही देर बिना पंखे व एसी के अपने कार्य करना पडे़गा। इतना ही नहीं उन्होंने खुद भी ऐसा ही किया। आज सुबह उन्होंने अपने पक्ष में जितने समय तक बिना जरूरत के लाईट, पंखे व एसी चले थे उतने ही समय तक अपने कक्ष के लाईट, पंखे व एसी बंद रखे और खिड़की, पर्दे आदि हटवाकर खुद जनता की समस्या बिना एसी व पंखे से सुनी। जिलाधिकारी अभी तक कई सरकारी कार्यालयों के औचक निरीक्षण कर चुके हैं और जहां -जहां भी उन्होंने अधिकारी अधिकारी या कर्मचारी की मौजूदगी में लाइट, एसी व पंखे चलते दिखे सबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को अर्थदंड वसूला था। इससे पहले जिलाधिकारी ने उनके कार्यालय में पानी बहता पाए जाने पर खुद अपने ही उपर एक हजार रूपये का अर्थदंड लगाया था। हिन्दुस्थान समाचार/फरमान/दीपक-hindusthansamachar.in