जंगली जानवरों से मुक्ति न मिली तो 22 को होगा आन्दोलन - राम सिंह
जंगली जानवरों से मुक्ति न मिली तो 22 को होगा आन्दोलन - राम सिंह
उत्तर-प्रदेश

जंगली जानवरों से मुक्ति न मिली तो 22 को होगा आन्दोलन - राम सिंह

news

चित्रकूट,15 अक्टूबर (हि.स.)। भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष राम सिंह पटेल की अगुवाई में राजापुर तहसील में किसान पंचायत में तीन सूत्रीय ज्ञापन उपजिलाधिकारी को सौंपकर कहा कि लगभग एक दर्जन गांव जंगली गायों से कई वर्षों से परेशान है। बछरन, अर्जुनपुर, गनीवा, रमपुरिया, तौरा, गोठऊपुर, चनहट, जमहिल, गोसाईंपुर आदि दर्जनों गांव के किसान प्रभावित है। गुरुवार को हुई पंचायत में किसान खासे आक्रोशित दिखे। समस्या का त्वरित निदान न होने पर आंदोलन की चेतावनी देते हुए कहा कि 22 अक्टूबर तक समस्या का निदान न हुआ तो किसान भाकियू की अगुवाई में आंदोलन को बाध्य होंगे। जिला उपाध्यक्ष उदयनारायण सिंह, नथन सिंह ने तिरहार के किसानों की लोबोल्टेज की समस्या को लेकर रोस्टर के अनुरूप बिजली न देने, 6 से 8 घण्टे बिजली देने का आरोप लगाया। कहा कि जिले के तिरहार में सबसे ज्यादा सरकारी ट्यूबवेल हैं जो सभी बन्द पड़े है। किसानों की फसले सुख रही है। पलेवा को पानी नही मिल पा रहा है। सरधुआ पावर हाउस अर्की फीडर में लोबोल्टेज की समस्या का सुधरी तो 22 अक्टूबर को बिजली विभाग का घेराव किया जायेगा। मऊ तहसील अध्यक्ष नीलकंठ द्विवेदी ने कहा कि किसानों को गुमराह कर कृषि अध्यादेशा किसान विरोधी बिल है। सरकार किसानों की हितैषी बनाना चाहती है तो स्वामी नाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करे। किसान पंचायत में तीरथ प्रसाद सिंह, देवेन्द्र सिंह, विनय कुमार त्रिपाठी, नरेश तिवारी, बिनोद कुमार सिंह, गोविंद सिंह, राजू भाई, राजकुमार सिंह, शत्रुघ्न सिंह, पप्पू भाई, सुरेश चंद्र, बिजय कुमार, जयनारायण सिंह, योगेंद्र सिंह, मुन्ना सिंह, चन्द्रपाल सिंह, अजीत सिंह आदि सैकड़ो किसान मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार /रतन/मोहित-hindusthansamachar.in