छुट्टी पर आए जवान की आकस्मिक मौत, मामा ने कहा प्रशासन नहीं आएगा तो नहीं जलेगी लाश
छुट्टी पर आए जवान की आकस्मिक मौत, मामा ने कहा प्रशासन नहीं आएगा तो नहीं जलेगी लाश
उत्तर-प्रदेश

छुट्टी पर आए जवान की आकस्मिक मौत, मामा ने कहा प्रशासन नहीं आएगा तो नहीं जलेगी लाश

news

अमेठी, 23 जुलाई (हि.स.)। सेना के जवान सुरेंद्र कुमार पाण्डेय की मौत का मामले में गुरुवार को तब नया मोड़ आ गया जब परिजनों और ग्रामीणों ने शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया। सभी प्रभारी मंत्री और डीएम-एसपी को मौके पर बुलाने की मांग कर रहे हैं। बता दें कि सेना के जवान सुरेंद्र कुमार पांडेय रविवार को छुट्टी पर घर आये थे। घर पहुंचते ही अचानक उनकी तबियत खराब हो गई। उन्हें परिवार वालों ने इलाज के लिए भर्ती कराया, जहां उनकी बुधवार को मृत्यु हो गई। उनकी आकस्मिक मौत से घर पर कोहराम मचा हुआ है। अमेठी कोतवाली क्षेत्र के भेटुआ ब्लाक के शुकुल का पुरवा गांव के रहने वाले सेना के जवान सुरेंद्र नागा सिक्किम सियाचीन बार्डर पर तैनात थे। पुलिस द्वारा उनके शव का पोस्टमार्टम कराया गया। पोस्टमार्टम के बाद पार्थिव शव जब घर पहुंचा तो परिवार वाले और ग्रामीण शव रखकर कर प्रदर्शन करने लगे। सेना के जवान सुरेंद्र के मामा जमुना प्रसाद शुक्ला ने मीडिया से कहा कि मेरे भांजा की ड्यूटी टाइम में मौत हुई है। ड्यूटी से इन्हें भेजा क्यों गया? 19 जुलाई को यहां पहुंचे तो इनके शरीर में जान नहीं थी। जब तक मंत्री, डीएम-एसपी नहीं आएंगे, अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। वहीं सीएमओ ने बताया कि जवान का कोरोना टेस्ट मरने से पूर्व और बाद में कराया गया है, रिपोर्ट निगेटिव आई है। पुलिस शव लेकर आई थी जिसका पोस्टमार्टम कराया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/असगर/राजेश-hindusthansamachar.in