चौधरी चरण सिंह जयंती: विपक्षी दलों ने भाजपा पर साधा निशाना
चौधरी चरण सिंह जयंती: विपक्षी दलों ने भाजपा पर साधा निशाना
उत्तर-प्रदेश

चौधरी चरण सिंह जयंती: विपक्षी दलों ने भाजपा पर साधा निशाना

news

मेरठ, 23 दिसम्बर (हि.स.)। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती पर विभिन्न राजनीतिक दलों ने कार्यक्रमों का आयोजन किया। इस दौरान विपक्षी दलों के निशाने पर भाजपा सरकार रही। सपा नेताओं ने नए कृषि कानूनों को लेकर भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। रालोद कार्यकर्ताओं ने कमिश्नरी पार्क में हवन किया। सपा जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह और शहर विधायक रफीक अंसारी के साथ सपा कार्यकर्ता कमिश्नरी पार्क में पहुंचे। सपा कार्यकर्ताओं ने चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए उन्हें नमन किया। कार्यकर्ताओं ने चौधरी चरण सिंह द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलने की शपथ लेते हुए हमेशा किसानों, दलितों और शोषित वर्ग की आवाज प्रमुखता के साथ उठाने का संकल्प लिया। सपा जिलाध्यक्ष ने चौधरी चरण सिंह को अपना गुरु बताते हुए कहा कि वह चौधरी साहब के आदर्शों से प्रेरित होकर राजनीति में आए हैं। नए कृषि कानूनों को लेकर भाजपा पर बरसते हुए सपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि 1959 में नागपुर में कांग्रेस का महासम्मेलन हुआ था। इस दौरान चौधरी चरण सिंह ने तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के सामने सहकारी खेती को लेकर पुरजोर तरीके से विरोध प्रकट किया था। भाजपा किसानों को बर्बाद करने का काम कर रही है। शहर विधायक रफीक अंसारी ने भाजपा पर किसानों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए भाजपा की कार्यशैली को ब्रिटिश हुकूमत से भी बदतर बताया। इसी के साथ दावा किया कि वर्ष 2022 में देश के किसान और जनता अपने वोट से भाजपा का सूपड़ा साफ कर देंगे। रालोद के जिलाध्यक्ष राहुल देव और वरिष्ठ नेता डॉ. राजकुमार सागवान के साथ कार्यकर्ताओं ने कमिश्नरी पार्क में हवन किया। चौधरी चरण सिंह को याद करते हुए हवन में आहुति दी। हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप/संजय-hindusthansamachar.in