चित्रकूट में नाबालिग लड़कियों से अनैतिक कार्य लेने की जांच का आदेश
चित्रकूट में नाबालिग लड़कियों से अनैतिक कार्य लेने की जांच का आदेश
उत्तर-प्रदेश

चित्रकूट में नाबालिग लड़कियों से अनैतिक कार्य लेने की जांच का आदेश

news

प्रयागराज, 23 जुलाई (हि.स.)। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने चित्रकूट में नाबालिग लड़कियों से अनैतिक कार्य लेने और बाल मजदूरी अधिनियम के प्रावधानों का उल्लंघन करने की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए इसकी जांच का आदेश दिया है। कोर्ट ने चित्रकूट के डीएम और विधिक सेवा प्राधिकरण को निर्देश दिया है कि इस मामले की जांच कर दोनों अलग-अलग रिपोर्ट 28 जुलाई तक हाईकोर्ट में पेश करें। सुप्रीम कोर्ट के वकील डॉ. अभिषेक अत्रे द्वारा ईमेल से मुख्य न्यायमूर्ति को भेजे गए पत्र में एक राष्ट्रीय पत्रिका में प्रकाशित लेख का हवाला दिया गया है। कहा गया कि इस पत्रिका और इसके न्यूज चैनल पर यह रिपोर्ट प्रकाशित की गई है कि चित्रकूट में नाबालिग लड़कियों को अनैतिक कार्यों में लगाया जा रहा है। साथ बाल मजदूरी अधिनियम के उल्लंघन का भी गंभीर आरोप है। मुख्य न्यायमूर्ति गोविंद माथुर और न्यायमूर्ति एसडी सिंह ने इस पत्र को जनहित याचिका के तौर पर स्वीकार करते हुए जांच के आदेश दिए हैं। इस केस की सुनवाई कोर्ट जांच रिपोर्ट आने के बाद करेगी। हिन्दुस्थान समाचार/आर.एन/दीपक-hindusthansamachar.in