गोरखपुर : गणतंत्र दिवस के अगले दिन से लग सकती है कोरोना वैक्सीन
गोरखपुर : गणतंत्र दिवस के अगले दिन से लग सकती है कोरोना वैक्सीन
उत्तर-प्रदेश

गोरखपुर : गणतंत्र दिवस के अगले दिन से लग सकती है कोरोना वैक्सीन

news

गोरखपुर, 23 दिसम्बर (हि.स.)। कोरोना वायरस के खिलाफ छिड़ी जंग को अब निर्णायक लड़ाई में तब्दील करने की कवायद तेज है। उत्तर प्रदेश में 26 जनवरी के बाद कभी भी इसे जमीन पर उतारा जा सकता है। संभव है कि 27 जनवरी से ही इसका आगाज हो जाये। गणतंत्र दिवस के अगले दिन से ही लोकतंत्र को कोरोना वायरस से निजात दिलाने की जंग छिड़ सकती है। गोरखपुर के मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) डॉक्टर श्रीकांत तिवारी ने इसका खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि तैयारी पूरी है। गोरखपुर के शहरी इलाके में स्थापित प्राथमिक विद्यालयों व निजी अस्पतालों में बनाये जा रहे केंद्रों से इसकी शुरुआत की जाएगी। हर केंद्र पर अधिकतम 100 लोगों को टीका लगाया जाएगा। सीएमओ ने इस बाबत निजी नर्सिंग होम संचालकों व आईएमए पदाधिकारियों के साथ बैठक भी कर लिया है। टीकाकरण के लिए डॉ. एनके पांडेय को नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया गया है। बड़े अस्पताल भी बन सकते हैं टीकाकरण केंद्र सीएमओ श्रीकांत तिवारी के मुताबिक बड़े अस्पतालों को भी टीकाकरण केंद्र बनाया जा सकता है। केंद्र के लिए कम से कम तीन कमरों की जरूरत है। इसके लिए वेटिंग एरिया, वैक्सीनेशन एरिया और पोस्ट ऑब्जर्वेशन एरिया की दरकार है। अस्पतालों के चयन के कार्य को जल्दी ही अंतिम रूप दे दिया जाएगा। तय है प्राथमिकता बता दें कि टीकाकरण के लिए सरकार ने प्राथमिकता तय कर दी है। पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगया जाना है। इसमें डॉक्टर से लगाकर स्वीपर तक शामिल हैं। तय केंद्रों पर ही टीकाकरण होगा। वैक्सीन के लिए स्वास्थ्यकर्मी के मोबाइल पर मैसेज आएगा। जिन्हें मैसेज मिलेगा वे ही स्वास्थ्यकर्मी तय समय पर टीकाकरण के लिये केंद्र पहुंचेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/आमोद/दीपक-hindusthansamachar.in