गाजियाबाद : फीस को लेकर शासनादेश पर अमल नहीं करने वाले स्कूल प्रबंधक जाएंगे जेल
गाजियाबाद : फीस को लेकर शासनादेश पर अमल नहीं करने वाले स्कूल प्रबंधक जाएंगे जेल
उत्तर-प्रदेश

गाजियाबाद : फीस को लेकर शासनादेश पर अमल नहीं करने वाले स्कूल प्रबंधक जाएंगे जेल

news

गाजियाबाद,11 सितम्बर (हि.स.)। जिलाधिकारी डॉ. अजय शंकर पांडेय ने शुक्रवार को निजी स्कूल संचालकों को स्पष्टरुप से चेतावनी दी है कि यदि फीस को लेकर चार जुलाई को शासनदेश के अनुरूप अभिभावकों को रिलीफ नहीं दिया तो उन्हें जेल भेजा जाएगा। श्री पांडेय शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में इंडिपेंडेंट स्कूल फेडरेशन ऑफ इंडिया के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के लेकर लगाए गए पूर्णबंदी के दौरान चार जुलाई को एक शासनदेश जारी किया गया था, जिसमें कहा गया था कि प्रत्येक निजि स्कूल संचालक इस शासनादेश को स्कूल के नोटिस बोर्ड पर चस्पा करेगा। साथ ही अपने वेबसाइट पर भी डालेगा ताकि अभिभावकों को वस्तुस्थिति से जानकारी हासिल हो सके। उन्होंने कहा कि शासनादेश के मुताबिक प्रत्येक स्कूल संचालक एक फोरमेट बनाएंगे, जिसमें फीस जमा करने वाले और न जमा करने वाले अभिभावकों के आवदेन पत्र के आधार पर विचार करते हुए अभिभवकों से फीस किस्तों में जमा करने पर निर्णय लेंगे। इसके लिए पेमेंट प्लान बनाकर अभिभावकों को देंगे। यदि किसी अभिभावक का आवेदन विद्यालय द्वारा अस्वीकार किया जाता है तो उसका कारण स्पष्ट करते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक को लिखित में बताना होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि फीस के मामले में किसी भी छात्र की पढ़ाई में व्यवधान नहीं होना चाहिए। यदि किसी स्कूल संचालक ने ऐसा करने का प्रयास किया तो उसे सीधे जेल भेजा जाएगा। बैठक में फेडरेशन के सुभाष जैन, गुलशन भामरी,आलोक गर्ग व डॉ.ज्योति गुप्ता प्रमुख रूप से उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/फरमान-hindusthansamachar.in