गांव के बुजुर्ग माता-पिता का पांव धोकर सामाजिक कार्यकर्ताओं ने युवाओं को दिया संदेश
गांव के बुजुर्ग माता-पिता का पांव धोकर सामाजिक कार्यकर्ताओं ने युवाओं को दिया संदेश
उत्तर-प्रदेश

गांव के बुजुर्ग माता-पिता का पांव धोकर सामाजिक कार्यकर्ताओं ने युवाओं को दिया संदेश

news

जनेऊ क्रांति अभियान के सहयोगियों ने सिखाया सेवा और सम्मान वाराणसी,12 सितम्बर (हि.स.)। पितृपक्ष अपने पूर्वजों के प्रति श्रद्धा भाव दिखाने का समय होता है। लोग उनके प्रति सम्मान और आदर भाव रख तर्पण और श्राद्ध करते हैं। वहीं, समाज में ऐसे भी लोग हैं जो अपने जीवित माता-पिता के प्रति सेवा व सम्मान का भाव भूल गये हैं। शनिवार को ऐसे युवाओं को संदेश देने के लिए जनेऊ क्रांति अभियान के सहयोगियों (कार्यकर्ताओं) ने आराजी लाइन विकास खंड के बुड़ापुर गांव में दर्जनों मातृ-पितृ बुजुर्गों का पूजा कर उन्हें सम्मानित किया। इस दौरान गांव के बुजुर्ग महिलाओं तथा पुरुषों का पैर दूध व गंगाजल से धोने के बाद तिलक लगाकर उनकी आरती उतारी गई। इसके बाद बुजुर्गों को फल तथा मिष्ठान,व वस्त्र प्रदान किया गया। अभियान के सहयोगी राजेश पटेल ने बताया कि समाज में आज के युवाओं के दिल में अपने माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति आदर व सम्मान व सेवा की कमी देखी जा रही है। जब माता-पिता मर जाते हैं तो उनको मरने के बाद पिंड दान के रुप में खाने-पीने की सामान चढ़ाया जाता है। आज कार्यकर्ताओं ने बूड़ापुर गांव में सभी देव तुल्य माता पिता एवं बुजुर्गों के प्रति आदर सम्मान देकर युवाओं को संदेश दिया है। ताकि लोग अपने बुजुर्ग माता-पिता के प्रति आदर का भाव रखे। अभियान में संजय यादव, विकास, सुमन, विनोद, अजय, संदीप, हीरालाल आदि शामिल रहें। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/राजेश-hindusthansamachar.in