गंभीर मरीजों को एल-3 अस्पताल में रेफर करने में देरी ना हों: गुरु प्रसाद
गंभीर मरीजों को एल-3 अस्पताल में रेफर करने में देरी ना हों: गुरु प्रसाद
उत्तर-प्रदेश

गंभीर मरीजों को एल-3 अस्पताल में रेफर करने में देरी ना हों: गुरु प्रसाद

news

मेरठ, 05 नवम्बर (हि.स.)। जनपद के नोडल अधिकारी पी गुरु प्रसाद ने गुरुवार को डेडिकेटेड कोविड अस्पताल संतोष अस्पताल और एनसीआर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि संतोष अस्पताल अपने स्टैंडर्ड में बढ़ोत्तरी करें। मरीज को एल-3 अस्पताल में रेफर करने में देरी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने वहां सीसीटीवी से की जा रही माॅनीटरिंग को भी देखा। एनसीआर इन्स्टीटयूट आफ मेडिकल साइंस के निरीक्षण के दौरान उन्हें अच्छा फीडबैक मिला। नोडल अधिकारी पी गुरु प्रसाद ने एल-2 स्तर के कोविड अस्पताल बनाए गए संतोष अस्पताल के निरीक्षण के दौरान चिकित्सा अधीक्षक के कक्ष में बैठक की। उन्होंने कहा कि मरीजों को बेहतर से बेहतर उपचार दिया जाए और गंभीर मरीजों को समय रहते एल-3 अस्पताल में रेफर किया जाए। उन्होंने वहां सीसीटीवी से की जा रही माॅनिटरिंग को देखा और मरीजों को अच्छा भोजन व दवा समय से देने को कहा। नोडल अधिकारी ने नेशनल कैपिटल रीजन इन्स्टीटयूट ऑफ मेडिकल साइंस के निरीक्षण के दौरान चिकित्सा अधीक्षक के कक्ष में बैठक की। उन्हें एनसीआर अस्पताल का भोजन, उपचार, साफ-सफाई का अच्छा फीडबैक मिला तथा उनके संज्ञान में आया कि अस्पताल का ट्रैक रिकार्ड अच्छा है। जिलाधिकारी के बालाजी ने बताया कि संतोष अस्पताल में वर्तमान में आठ कोरोना मरीज अपना उपचार करा रहे है। संतोष अस्पताल में अब तक करीब 13 मरीज उपचार के बाद सही होकर अपने घर चले गए हैं और अस्पताल में दो मरीजों की मौत हुई है। एनसीआर इन्स्टीटयूट ऑफ मेडिकल साइंस में वर्तमान में 89 कोरोना मरीज अपना उपचार करा रहे हैं। अब तक करीब 2,168 मरीज इस अस्पताल से उपचार के बाद ठीक होकर अपने घर चले गए हैं और तीन मरीजों की मृत्यु हुई है। इस अस्पताल में आरटीपीसीआर से कोरोना की जांच की सुविधा भी उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति को बुखार या खांसी या सांस लेने में तकलीफ है तो वह तत्काल अपने नजदीकी डॉक्टर को अवश्य दिखाए। समय से कोरोना की जांच कराकर वह अपने व अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप/संजय-hindusthansamachar.in