खतौनी के पैटर्न पर आई धरौनी स्कीम, ड्रोन कैमरे से सर्वे शुरु
खतौनी के पैटर्न पर आई धरौनी स्कीम, ड्रोन कैमरे से सर्वे शुरु
उत्तर-प्रदेश

खतौनी के पैटर्न पर आई धरौनी स्कीम, ड्रोन कैमरे से सर्वे शुरु

news

अब आबादी की जमीन पर मिलेगा स्वामित्व अमेठी, 24 जुलाई (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के अमेठी में बढ़ते जमीनी विवाद के बीच राहत भरी खबर सामने आई है। दिल्ली से बाकायदा एक टीम गौरीगंज पहुंची। जो अब यहां ड्रोन कैमरे से एक-एक व्यक्ति के घर और जमीन का सर्वे करेगी। इससे अंदाजा लगा लिया जाएगा कि कौन कितने स्वामित्व का मालिक है। शुक्रवार को दिल्ली से आई टीम गौरीगंज मुख्यालय पर पहुंची। फिर क्षेत्र के दो गांव मोहनपुर और पूरे अवसान में सर्वे किया। नाम ना छापने की शर्त पर एक जिम्मेदार अधिकारी ने बताया कि खतौनी के ही पैटर्न पर भारत सरकार के निर्देश पर धरौनी बनने का कार्यक्रम शुरू किया गया है। सर्वेक्षण टीम इसके लिए आई हुई है। अभी तक श्रेणी 6 दो में आबादी की जमीन के स्वामित्व का अधिकार नहीं होता था। जिसके लिए गांव में तमाम विवाद होते हैं। अब उनका स्वामित्व का निर्धारण इस भू सर्वेक्षण टीम के द्वारा कराया जा रहा है। जिसमें ड्रोन कैमरे से हो रहा है। बताया कि आबादी का सीमांकन संभव नहीं था इसलिए ड्रोन कैमरे से जो ऊपर से सर्वे करके बताएगा कि प्रत्येक व्यक्ति के आवास की स्थिति देखी जायेगी कि वो कितने क्षेत्रफल में रह रहा है।इसका पूरा सर्वे किया जा रहा है। बताया कि प्रारूप 5 है उसमें प्रत्येक व्यक्ति का नाम, उसके पिता का नाम, मोबाइल नंबर, कितने क्षेत्रफल में वो बसा है। या कोई सरकारी विद्यालय है, पोल है, पंचायत भवन है टीम द्वारा इसका चिन्हांकित किया जा रहा है। इससे आबादी की भूमि पर स्वामित्व का अधिकार मिलेगा। हिन्दुस्थान समाचार/असगर/राजेश-hindusthansamachar.in