कोविड मरीज के इलाज में बरती गई लापरवाही पर मजिस्ट्रीरियल जांच के आदेश
कोविड मरीज के इलाज में बरती गई लापरवाही पर मजिस्ट्रीरियल जांच के आदेश
उत्तर-प्रदेश

कोविड मरीज के इलाज में बरती गई लापरवाही पर मजिस्ट्रीरियल जांच के आदेश

news

झांसी, 07 सितम्बर (हि.स.)। विगत माह कोविड पॉजिटिव पाये गये मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर मेडिकल कॉलेज के चिकित्सको व कर्मचारियों पर इलाज में लापरवाही बरतने के चलते मरीज की मौत होने का आरोप लगाया। मामले को गंम्भीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने सोमवार को मजिस्ट्रीरियल जांच के आदेश दिये। कोतवाली क्षेत्र के लक्ष्मणगंज निवासी मुकेश अग्रवाल ने जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी को दिए प्रार्थना पत्र में बताया कि उनके भतीजे 38 वर्षीय योगेश अग्रवाल की जांच के बाद कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। इस पर चिकित्सक की सलाह पर महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड में 14 अगस्त को भर्ती कराया गया। वहां हालत बिगड़ने पर भतीजे को 24 अगस्त को दिल्ली रेफर किया गया। जहां नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट नई दिल्ली में 26 अगस्त को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मुकेश अग्रवाल शिकायती पत्र में मेडिकल कॉलेज के चिकित्सकों एवं कर्मचारियों पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर संबंधित के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर कार्रवाई की मांग की गई। वही जिलाधिकारी ने शिकायत को गम्भीरता से लेते हुए मामले की मजिस्ट्रीरियल जांच के लिए अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) को नामित किया। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि प्रकरण के संबंध में सम्यक जांच कर अपनी तथ्यात्मक रिपोर्ट 15 दिन के अंदर प्रस्तुत की जाएं। यदि जांच के दौरान किसी चिकित्सक की मदद की आवश्यकता पड़ती है तो वह भी प्राप्त कर लें। हिन्दुस्थान समाचार/महेश/मोहित-hindusthansamachar.in