कोविड नियमों के साथ शुरू हुई जनसंख्या पखवाड़ा में नसबन्दी
कोविड नियमों के साथ शुरू हुई जनसंख्या पखवाड़ा में नसबन्दी
उत्तर-प्रदेश

कोविड नियमों के साथ शुरू हुई जनसंख्या पखवाड़ा में नसबन्दी

news

नसबंदी पंजीकरण पर की जांच मुफ्त मीरजापुर, 17 जुलाई (हि.स.)। कोविड-19 जैसी वैश्विक महामारी के बीच स्वास्थ्य विभाग अपने तमाम कार्यक्रमों को कोविड के नियमों व सावधानियों के साथ शुरू कर दिया है। इसी के तहत परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत नसबन्दी का कार्य 14 जुलाई से सभी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर शुरू कर दिया है। नसबन्दी कराने के लिए आने वाले महिलाओं व पुरूषों का पहले कोरोना टेस्ट होना अनिवार्य होगा। यह जांच बिल्कुल मुफ्त होगी। परिवार नियोजन के नोडल अधिकारी ने बताया कि नसबन्दी की सुविधा जनपद के 16 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, 16 प्राथमिक स्वास्थ्य के अलावा नगर के महिला व पुरूष चिकित्सालय में 14 जुलाई से शुरू कर दिया है। जिसमें तीन महिला सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र औराई व एक महिला स्वास्थ्य केन्द्र गोपीगंज में नसबन्दी कराने का कार्य किया है। अभी जिले के किसी केन्द्र पर पुरूषों ने अपनी भागीदारी दर्ज नहीं कराया है। मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. ओपी तिवारी ने बताया कि जनसंख्या पखवाड़ा 11 से 31 जुलाई तक किया जायेगा। इसके तहत कार्यक्रम में लगे आशाएं, एएनएम व स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा लोगो को घर घर जाकर परिवार नियोजन के महत्व के बारे में बताया जायेगा। इसके साथ ही सभी अपर मुख्य चिकित्साधिकारियों व प्रभारी चिकित्साधिकारियों को पत्र के माध्यम से भी अवगत कराया जा चुका है कि वह 14 जुलाई से नसबन्दी की सुविधा लोगों को प्रदान करें। इसके पूर्व प्रत्येक केन्द्र पर इसके पूर्व 100-250 नसबन्दी करने का कार्य किया जा रहा था परन्तु कोविड के सावधानियों को ध्यान में रखते हुए विभाग ने इसको सीमित कर कर दिया है। नसबन्दी कराने के इच्छुक लोग अपने घर के नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर आशा द्वारा अपने पंजीकरण करा सकते है। जिले में 1 अप्रैल 2019 से लेकर 31 मार्च 2020 तक आईसीडी 67, पीपीआयूसीडी 170, अंतरा 863, छाया 1936 लोगो ने परिवार नियोजन सम्बन्धी साधनों का उपयोग किया है। हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in