कोरोना संक्रमण से बचने के लिए हैंडवाश अहम हथियार
कोरोना संक्रमण से बचने के लिए हैंडवाश अहम हथियार
उत्तर-प्रदेश

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए हैंडवाश अहम हथियार

news

बांदा, 15 अक्टूबर (हि.स.)। स्वास्थ्य इकाइयों, सरकारी व निजी प्रतिष्ठानों सहित ग्रामीणों क्षेत्रों में ग्लोबल हैंडवाशिंग डे मनाया गया। लामा गांव स्थित पंचायत भवन में जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह ने ग्रामीणों को हाथों के फायदे बताए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए हाथों को सही तरीके से सफाई बहुत जरूरी है। क्योंकि स्वास्थ्य अच्छा होगा तो आर्थिक स्थिति भी बेहतर बनाई जा सकती है। मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चंद्र वर्मा ने कहा कि हाथों में गंदगी छिपी होती है, जो सामान्य आंखों से दिखाई नहीं देती है। बिना हाथ धोए खाद्य एवं पेय पदार्थों का सेवन करने से यह गंदगी हमारे शरीर में चली जाती है। जो बाद में कई बीमारियों का कारण बनती है। यूनीसेफ के मंडलीय समन्वयक हरेंद्र पवार ने कहा कि लोगों में हाथों की धुलाई के प्रति जागरूकता के मकसद से पूरे विश्व में 15 अक्टूबर को हाथ धुलाई दिवस (ग्लोबल हैंड वाशिंग डे) मनाया जाता है। हाथों को साफ रखने से स्वाइन फ्लू और संक्रमण से भी काफी हद तक बचा जा सकता है। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि खाने से पहले, खाने के बाद, शौच के बाद अच्छे से हाथ जरूर धोएं। साथ ही हाथ पोंछने के लिए साफ-सुथरी जगह पर सुखाए गए तौलिए का ही प्रयोग करें। तौलियों को उबलते हुए पानी में धोएं, ताकि वे पूरी तरह से कीटाणु मुक्त हो जाएं। इस मौके पर डीपीआरओ संजय यादव, एसीएमओ डा. आरएन प्रसाद, यूनीसेफ के जिला समन्वयक फुजैल सिद्दीकी सहित ग्रामीण उपस्थित रहे। हाथों की लकीरों में छिप जाते हैं कीटाणु जिला पुरूष अस्पताल में हैंडवाशिंग डे मनाया गया। मंडलीय सलाहकार क्वालिटी एश्योरेंस डा. तरन्नुम सिद्दीकी ने बताया कि हाथ धोना स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता का ही एक हिस्सा है। हर व्यक्ति को स्वास्थ्य के प्रति इन छोटी-छोटी बातों को ध्यान रखना चाहिए। हम दिन में कई चीजों को छूते हैं। ऐसे में कीटाणु हमारे हाथ की लकीरों में छिप जाते हैं। हाथ धोने के लिए हर बार साबुन का प्रयोग करें। इस दौरान मुख्य चिकित्साधीक्षक डा. उदयभान सिंह, अस्पताल प्रबंधक डा. राम वर्मा सहित अस्पताल स्टाफ उपस्थित रहा। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/मोहित-hindusthansamachar.in