कोरोना में भी राजस्थानी भक्तों की मलमास माह में खाकी बाबा की कुटी में दिखी मौजूदगी
कोरोना में भी राजस्थानी भक्तों की मलमास माह में खाकी बाबा की कुटी में दिखी मौजूदगी
उत्तर-प्रदेश

कोरोना में भी राजस्थानी भक्तों की मलमास माह में खाकी बाबा की कुटी में दिखी मौजूदगी

news

-भक्तों ने आज किया हवन, कल गंगा स्नान कर लौटेंगे राजस्थान फतेहपुर, 15 अक्टूबर (हि.स.)। कोरोना के चलते इस वर्ष मनाये जाने वाले मलमास में जिले के खागा कस्बे में स्थित खाकी बाबा की कुटी में संतों व भक्तों का सन्नाटा देखने को मिला लेकिन राजस्थान से आने वाले भक्तों ने कोरोना के लिए जारी नियमों का पालन कर कलाबास किया। गुरुवार को हवन पूजन किया गया और कल मलमास के अन्तिम दिन भक्त गंगा स्नान कर राजस्थान लौट जायेंगे। बताते चलें कि, खागा तहसील क्षेत्र नवबस्ता घाट के खाकी बाबा की कुटी पर हर तीन वर्षों में पड़ने वाले मलमास माह में कई प्रांतो से लाखों भक्त आकर खाकी बाबा की कुटी में एक माह तक कलाबास एवं गंगा स्नान कर भजन कीर्तन व रामलीला का मंचन आदि का आनन्द लेते थे पूरे मलमास माह में यहां भव्य आयोजन देखने को मिलता था। हर दिन भंडारे में हजारों लोग प्रसाद ग्रहण करते थे। पर इस वर्ष कोरोना महामारी की वजह से मलमास माह में सन्नाटा छाया रहा। इसके बावजूद भी राजस्थानीय भक्त अपनी आस्था लेकर पूरे मलमास माह भर दूरी बनाकर पूजा अर्चना भजन आदि कार्यक्रम किया। भक्त तेजा सिंह ने बताया कि हम लोग हर तीन वर्ष में खाकी बाबा की कुटी मंदिर में आते हैं। हमारे बुजुर्ग भी यहां आते रहे हैं हम सब उसी आस्था का निर्वाह कर खाकी बाबा के दर्शन के लिए आते हैं और एक माह तक यहां रहकर विष्णु भगवान की पूजा अर्चना करते है। गंगा स्नान कर कल मलमास के बाद वापस लौट जायेंगे। गुरुवार को माह के अंतिम दिन हवन आदि का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इसके बाद कल शुक्रवार को गंगा स्नान करके वापस राजस्थान चले जायेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/देवेन्द्र/मोहित-hindusthansamachar.in