कोरोना चैंपियन स्वास्थ्य सुविधाओं से खुश
कोरोना चैंपियन स्वास्थ्य सुविधाओं से खुश
उत्तर-प्रदेश

कोरोना चैंपियन स्वास्थ्य सुविधाओं से खुश

news

- कोरोना को दे मात चैंपियन बन रहे लोग - स्टैटिक बूथ सुविधा, मोबाइल टीमें कर रहीं जागरूक व टेस्टिंग हाथरस, 10 सितम्बर (हि.स.)। इस वक्त जहां एक तरफ कोरोना के उपचारधनों की संख्या बढ़ रही है वहीं दूसरी तरफ कोरोना से ठीक होकर अपने घर पहुंचने वालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। जनपद में तेजी से लोग कोरोना को हराकर अपने-अपने घर पंहुच रहे है। कोरोना को पछाड़कर ठीक हुए कोरोना चैंपियन सरकार द्वारा किए गए इंतजामों से काफी खुश हैं। उनका कहना है कि इस महामारी के दौरान सरकार ने बेहद अच्छे इंतजाम किए हैं। जिले के मुरसान की रहने वाली महिला शबाना (बदला हुआ नाम) को घर पर ही बुखार आया था। इस पर टेस्ट कराने के बाद वह पॉजिटिव निकली। उन्हें आगरा के सरकारी अस्पताल के लिए भेज दिया गया। जहां उनका इलाज चला। उन्होंने बताया कि कोविड अस्पताल में समय पर खाना साफ-सफाई, डॉक्टर द्वारा नियमित चेकअप आदि की व्यवस्था बहुत अच्छी थी। एक सरकारी बैंक में कार्यरत कोरोना चैंपियन रमेश कुमार (बदला हुआ नाम) ने बताया कि बैंक में कई स्टाफ को कोरोना हुआ जिसमें वह भी थे। टेस्ट में उनका पूरा परिवार भी कोरोना पॉजिटिव निकले। वह बताते हैं कि मुरसान कोविड-01 अस्पताल में उन्हें बेहतर सुविधा मिली और उनका पूरा परिवार ठीक होकर घर वापस आ गया। उन्होंने लोगों से अपील की वह इस बीमारी से डरें नहीं एहतियात बरतें मास्क जरूर लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस का भी पूरी तरह से पालन करें। एक अन्य कोरोना चैंपियन धर्मपाल (बदला हुआ नाम) का कहना है कि उन्हें मुरसान कोविड-01 अस्पताल में खाने-पीने आदि किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई, सरकार की बढ़िया सुविधा थी। उन्होंने कहा कि लोगों को मास्क, हाथों की सफाई, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें। उधर, कोरोना चैंपियन के परिजनों का भी कहना है कि सरकार के द्वारा किए गए सारे इंतजाम बेहतर है आइसोलेशन सेंटर में भी उन्हें सभी प्रकार की सुविधाएं प्रदान की गई। सीएमओ डॉ. बृजेश राठौर का कहना है कि लोग तेजी से ठीक हो रहे हैं। जनपद में स्टैटिक बूथ बनाए गए हैं। जहां खांसी, सर्दी या कोई व्यक्ति किसी कारण से अपनी जांच कराना चाहता है उसकी जांच की जा रही है। साथ ही मोबाइल टीमें भी बनाई गई हैं, जो संक्रमण के ज्यादा खतरे वाले इलाकों में जाकर लोगों को जागरूक व टेस्टिंग कर रहीं हैं। हिन्दुस्थान समाचार/चंद्रिल-hindusthansamachar.in