कैट में भी हाईकोर्ट की तर्ज पर खुली अदालत व वीडियो कांफ्रेंसिंग से सुनवाई की मांग
कैट में भी हाईकोर्ट की तर्ज पर खुली अदालत व वीडियो कांफ्रेंसिंग से सुनवाई की मांग
उत्तर-प्रदेश

कैट में भी हाईकोर्ट की तर्ज पर खुली अदालत व वीडियो कांफ्रेंसिंग से सुनवाई की मांग

news

प्रयागराज, 31 जुलाई (हि.स.)। कैट बार एसोसिएशन ने प्रधान पीठ को इलाहाबाद हाईकोर्ट की तरह यहां केंद्रीय प्रशासनिक अधिकरण में भी खुली अदालत व वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग दोनों प्रकार से मुकदमों की सुनवाई करने का प्रस्ताव भेजा है। प्रस्ताव में मुकदमों के मैनुअली दाखिले की व्यवस्था भी करने को कहा गया है। एसोसिएशन के उपाध्यक्ष जितेंद्र नायक के अनुसार शुक्रवार को जनरल हाउस में उपस्थित वकीलों ने वर्चुअल सुनवाई में आ रही परेशानियों पर चर्चा की। कहा गया कि अधिकतर वकील अभ्यस्त न होने के कारण वर्चुअल सुनवाई में अपनी पूरी बात नहीं कह पा रहे हैं। इसके अलावा ई-फाइलिंग में भी परेशानी उठानी पड़ रही है। ऐसे में हाईकोर्ट की तरह कैट में भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के साथ खुली अदालत में भी सुनवाई की व्यवस्था की जानी चाहिए। अंत में एक मत से यही प्रस्ताव प्रधान पीठ नई दिल्ली भेजने का निर्णय लिया गया। बैठक में अनिल कांत त्रिपाठी, अनिल सिंह, अवनीश त्रिपाठी, आशुतोष तिवारी, सौरभ, मनीष यादव, संतोष कुशवाहा, राकेश दीक्षित, रवि शर्मा, अभिनव त्रिपाठी, राजपाल सिंह, आशीष श्रीवास्तव आदि उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/आर.एन/राजेश-hindusthansamachar.in