कृषि उद्योग ग्रामीण क्षेत्रों में करते हैं औद्योगिक संस्कृति का संचार : कुलपति
कृषि उद्योग ग्रामीण क्षेत्रों में करते हैं औद्योगिक संस्कृति का संचार : कुलपति
उत्तर-प्रदेश

कृषि उद्योग ग्रामीण क्षेत्रों में करते हैं औद्योगिक संस्कृति का संचार : कुलपति

news

- कृषि प्रबंधन के छात्रों का कृषकों के बीच हो अधिक लिंकेज कानपुर, 20 दिसम्बर (हि.स.)। कृषि आधारित कुछ उद्योगों जैसे प्रसंस्करण खाद्य और खाद्य पदार्थों में जबरदस्त निर्यात क्षमता है। विकास प्रक्रिया में ग्रामीणों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए कृषि आधारित उद्योगों की स्थापना समय की मांग है। कृषि आधारित उद्योग तुलनात्मक रुप से कम निवेश वाले ग्रामीण क्षेत्रों में आय स्थापित करने और रोजगार प्रदान करने वाले होते हैं। कृषि आधारित उद्योग ग्रामीण क्षेत्रों में औद्योगिक संस्कृति का संचार करते हैं। यह बातें रविवार को सीएसए में एचबीटीयू के कुलपति डॉ एनबी सिंह ने कही। चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) के कैलाश भवन सभागार में तीन दिवसीय (19 से 21 दिसंबर 2020) छात्र एवं उद्योग का पारस्परिक संवाद कृषि प्रबंधन के प्रथम वर्ष के नवप्रवेशित छात्र एवं छात्राओं का फ्रेशर्स कार्यक्रम हो रहा है। दूसरे दिन के मुख्य अतिथि हरकोर्ट बटलर तकनीकी विश्वविद्यालय कानपुर के कुलपति डॉ एनबी सिंह ने छात्रों से कहा कि एक अच्छा विद्यार्थी बनने के लिए जरुरी है कि छात्र परस्पर वार्ता अवश्य करें। जिससे छात्रों में विषयों का ज्ञान वर्धन होता है। सीएसए के कुलपति डॉ डीआर सिंह ने कहा कि हमारा प्रयास है कि कृषि प्रबंधन के छात्रों व कृषकों का लिंकेज अधिक हो। जिससे कि छात्र अधिक से अधिक हुनरमंद बने। कुलपति ने उपस्थित औद्योगिक अतिथियों से अपील की है कि आप कृषि प्रबंधन के छात्रों को वर्ष में कम से कम एक या दो बार अपने उद्योगों का भ्रमण अवश्य कराएं, जिससे छात्र भी आप लोगों जैसे उद्यमी बन कर अन्य लोगों को रोजगार उपलब्ध करा सके। कुलपति ने कहा कि देश भर में कृषि आधारित उद्योगों/स्टार्टअप की हर क्षेत्र में भरमार है। जिससे युवा स्वरोजगार/आत्मनिर्भर की ओर आकर्षित हो रहे हैं। आयोजित हुए रंगारंग व शैक्षणिक कार्यक्रम इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि राजीव गंगवार एवं शैलेंद्र सिंह ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किए व उद्यमिता की बारीकियां भी बताई। विश्वविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ खलील खान ने बताया कि नवप्रवेशित छात्र छात्राओं ने अपने वरिष्ठ साथियों के साथ रंगारंग एवं शैक्षणिक कार्यक्रम जैसे सोलो डांस, ग्रुप डांस, कविताएं, डिबेट, क्विज प्रतियोगिता, रंगोली, सामान्य कृषि एवं सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता, कवर पेज मेकिंग प्रतियोगिता, फोटो एडिटिंग जैसे कार्यक्रम आयोजित किए। इस दौरान डॉ विजय यादव, डॉ धर्मराज सिंह, डॉक्टर एचजी प्रकाश, कुलसचिव डॉ एसके गुप्ता, निदेशक बीज एवं प्रक्षेत्र डॉ राम आशीष यादव तथा सुरक्षा अधिकारी डॉ एके सिंह आदि मौजूद रहें। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/मोहित-hindusthansamachar.in