कुशीनगर के मुसहर समुदाय के विकास को बनेंगी दूरगामी योजनाएं
कुशीनगर के मुसहर समुदाय के विकास को बनेंगी दूरगामी योजनाएं
उत्तर-प्रदेश

कुशीनगर के मुसहर समुदाय के विकास को बनेंगी दूरगामी योजनाएं

news

शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य को लेकर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने की बैठक कुशीनगर, 22 सितम्बर (हि. स.)। जिले के कसया तहसील क्षेत्र के आदिवासी सरीखे मुसहर समुदाय के युवाओं, बच्चों व महिलाओं के दूरगामी विकास हेतु योजनाएं बनेंगी। योजनाओं को प्रभावी तरीके से लागू कर समाज को विकास की मुख्यधारा में लाने की नवीन पहल कसया के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम पूर्ण बोहरा ने की है। एसडीएम ने मंगलवार को विकास योजनाओं से जुड़े सभी विभागों के प्रमुखों के साथ बैठक की और योजना का प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। तहसील सभागार में हुई बैठक में बेसिक शिक्षा, पंचायत राज, नगरपालिका, ग्राम सभा व तहसील, आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य, खादी ग्रामोद्योग विभाग के अधिकारी शामिल रहे। एसडीएम ने बीएसए को मुसहर बच्चों की शिक्षा से जुड़ी विशेष परियोजना तैयार करने का निर्देश दिया। स्कूल तक बच्चों को लाने व उनका रुझान पढ़ाई के प्रति जगाने, पढ़ाई के दौरान पोषण मसलन मिड डे मिल, पुष्टाहार, स्वच्छता आदि के लिए कार्ययोजना बनाकर सभी जिम्मेदारों की भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। परियोजना निदेशक व जिला पंचायत राज अधिकारी को मुसहर बहुल एरिया में पेयजल, आवास, शौचालय, स्वच्छता आदि योजनाओं को लागू करने में वरीयता देने का निर्देश दिया। खादी ग्रामोद्योग व नगरपालिका को मुसहर युवाओं व महिलाओं को रोजगार से जोड़ने की योजना बनाकर प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। बैठक में अधिशासी अधिकारी प्रेमशंकर गुप्त, मैनपुर के ग्राम प्रधान भागवत यादव, कुड़वा दिलीपनगर के प्रधान प्रतिनिधि शम्भू कुशवाहा, धुरिया मनोज गौंड और सम्बन्धित गांवों लेखपाल गण मौजूद रहे। छह गांवों के 19 टोलों में बसे हैं मुसहर कसया तहसील के मैनपुर, कुड़वा दिलीपनगर, कोल्हुआ, धुरिया व नगरपालिका कुशीनगर क्षेत्र के 19 स्थानों पर हजारों की संख्या में मुसहर रहते हैं। मुख्यतः इनकी जीविका भिक्षाटन, मछली घोंघा सीपी पकड़ने, खेतों में मजदूरी और कुछ स्थानों पर कच्ची शराब बनाने बेचने पर चलती है। समुदाय को आवास, पेयजल आदि योजनाओं का लाभ तो मिल रहा है परंतु शिक्षा, रोजगार आदि से मुसहर अभी दूर है। एसडीएम पूर्ण बोहरा ने बताया कि उनकी योजना अभियान चलाकर मुसहर समुदाय को समाज की मुख्य धारा में लाने की है। सम्वन्धित सभी विभागों को इसके लिए योजना तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/गोपाल/दीपक-hindusthansamachar.in