किसान को नहीं मिल रहा यूरिया, उत्पादन हो सकता है प्रभावित
किसान को नहीं मिल रहा यूरिया, उत्पादन हो सकता है प्रभावित
उत्तर-प्रदेश

किसान को नहीं मिल रहा यूरिया, उत्पादन हो सकता है प्रभावित

news

बागपत, 02अगस्त (हि.स.)। जिले में हजारों किसानों को यूरिया नहीं मिलने से फसल उत्पादन प्रभावित हो सकता है। दरअसल कोरोना काल में फैक्टरियों के बंद रहने और माल की ढुलाई नहीं होने के कारण ही यूरिया संकट बना है। किसानों को सर्वाधिक दिक्कत सहकारी समितियों पर यूरिया खत्म होने से हो रही हैं। बागपत में सहकारी समितियों से 80 हजार से ज्यादा किसान जुड़े हैं, लेकिन पिछले कई दिन से यूरिया नहीं मिल रहा है। सिसाना गांव के किसान प्रदीप कुमार ने कहा कि समय रहते यूरिया नहीं मिला तो गन्ना और धान उत्पादन प्रभावित होगा। हालांकि कोराना काल में सहकारी समितियों ने पिछली साल के मुकाबले कई गुना ज्यादा उर्वरक किसानों को दिया। पूरे खरीफ सीजन में समितियों ने 14534 मीट्रिक टन लक्ष्य के सापेक्ष रिकार्ड 1262 मीट्रिक टन उर्वरक वितरित हुआ है़। जिला कृषि अधिकारी डा. सूर्य प्रताप सिंह ने कहा कि प्राइवेट दुकानों पर यूरिया उपलब्ध है। उधर सहायक निबंधक सहकारिता देवेंद्र कुमार ने कहा कि कोरोना काल में यूरिया उत्पादन और विदेशों से निर्यात यूरिया की ढुलाई पर असर पड़ा है। इसके बावजूद सहकारी समितियों ने लक्ष्य से कई गुना यूरिया वितरित किया है। लॉकडाउन में बाजार बंद रहने के कारण सभी किसानों ने सहकारी समितियों से यूरिया खरीदा है। हिन्दुस्थान समाचार/ गौरव साहनी-hindusthansamachar.in