कांग्रेसियों ने राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रुप में मनाया पीएम मोदी का जन्म दिवस
कांग्रेसियों ने राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रुप में मनाया पीएम मोदी का जन्म दिवस
उत्तर-प्रदेश

कांग्रेसियों ने राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रुप में मनाया पीएम मोदी का जन्म दिवस

news

- केक की जगह कांग्रेसियों ने काटा कद्दू, केन्द्र और प्रदेश सरकार पर कसे तंज कानपुर, 17 सितम्बर (हि.स.)। बेरोजगारों द्वारा बीते दिनों ताली, थाली और दिये जलाकर विरोध करने से मिली ताकत को कांग्रेस सहित सभी विपक्ष भुनाने को जुट गया है। इसी के चलते कांग्रेस ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जन्म दिवस राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रुप में मनाया। इसके साथ ही विरोध स्वरुप केक की जगह कद्दू काटकर प्रधानमंत्री का जन्म दिवस मनाया गया। वहीं इस दौरान पीएम मोदी इस्तीफा दो या युवाओं को रोजगार दो आदि नारे भी लगाये गये। कानपुर महानगर कांगेस कमेटी के अध्यक्ष हर प्रकाश अग्निहोत्री के नेतृत्व में आज बड़ा चौराहा स्थित मुरारीलाल रोहतगी प्रतिमा स्थल पर कांग्रेसियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस पर केक की जगह कद्दू काट कर राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस मनाया और अपना जबरदस्त विरोध दर्ज कराया। यहां पर बड़ी संख्या में इकट्ठे कॉंग्रेस जनों ने नरेंद्र मोदी हाय हाय, नरेंद्र मोदी शर्म करो, बेरोजगारी के लिए कौन है जिम्मेदार, नरेंद्र मोदी-नरेंद्र मोदी, नरेंद्र मोदी इस्तीफा दो या युवाओ को रोज़गार दो आदि नारे लगाते हुए केंद्र और प्रदेश सरकार के विरुद्ध अपना कड़ा विरोध व्यक्त किया। हर प्रकाश अग्निहोत्री ने कहा कि नरेंद मोदी सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के कारण आज बेरोज़गारी अपने चरम पर पहुँच गई है। उन्होंने कहा कि प्रति वर्ष दो करोड़ रोज़गार देने का वादा करके सत्ता में आई मोदी सरकार ने रोजगार देने के बजाय पहले से रोजगार मे लगे युवाओ को ही बेरोज़गार करके रख दिया है। देश के इतिहास में ऐसी बेरोजगारी कभी नहीं थी जैसी इस मोदी सरकार के दौरान देखी जा रही है। अग्निहोत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने अपने छह वर्षों के कार्यकाल में देश को आर्थिक रूप से कंगाल कर उसे रसातल में पहुँचा दिया और युवाओं के हांथों में कद्दू पकड़ा दिया। आज यही कारण है कि विरोध स्वरूप हम नरेंद्र मोदी के जन्म दिन पर केक की बजाय कद्दू काट कर राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस मना रहे हैं। वहीं पूर्व सांसद राजाराम पाल ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी जैसे गलत फैसले लेकर मोदी ने देश के लाखों करोड़ों लोगों के रोजगार छीन लिये और उन्हें बेरोजगार कर दिया है। इस दौरान विधायक सोहिल अंसारी, पूर्व विधायक संजीव दरियावादी, शंकर दत्त मिश्रा, अब्दुल मन्नान, निजामुद्दीन खां, इकबाल अहमद, कृपेश त्रिपाठी, कमल जायसवाल, नौशाद आलम, ग्रीन बाबू सोनकर, अशोक धानविक, सरदार अमन दीप सिंह, राजकुमार यादव, डॉ आर के जगत, के के तिवारी, इखलाख अहमद डेविड, मानेष दीक्षित, हाजी अफजाल, सतीश दीक्षित, लल्लन अवस्थी, नदीम सिद्दीकी, चंद्र मणि मिश्रा, संतोष गुप्ता, क़ासिफ बटटू, सानू बुंदेला, अवधेश तिवारी, मोनू शुक्ला, मनोज तिवारी, अशरफ अली सेखू, फ़ज़ल खान, रामजी श्रीवास्तव, मो. अफलाख, भीम सोनकर, एजाज रसीद, अमन चौधरी, जितेन्द्र साहिल, संजू व चांद आदि मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/मोहित-hindusthansamachar.in