औरैया : जिस महिला की हत्या में पांच लोगों के खिलाफ लिखा था मुकदमा , उसे पुलिस ने अमृतसर से किया जिंदा बरामद
औरैया : जिस महिला की हत्या में पांच लोगों के खिलाफ लिखा था मुकदमा , उसे पुलिस ने अमृतसर से किया जिंदा बरामद
उत्तर-प्रदेश

औरैया : जिस महिला की हत्या में पांच लोगों के खिलाफ लिखा था मुकदमा , उसे पुलिस ने अमृतसर से किया जिंदा बरामद

news

औरैया, 12 सितंबर (हि. स.)। फतेहगढ़ जिले के दुर्गपुर मोहम्मदाबाद निवासी स्नेहलता पत्नी अवधेश सिंह राठौर द्वारा 8 अगस्त को सदर कोतवाली में पुत्री रुचि की दहेज को लेकर हत्या करने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। जिसमें पुलिस ने पति संजय सिंह, जेठ सानू, जेठानी नेहा, सास गुड्ढ़ो व ससुर कृष्ण प्रताप ङ्क्षसह के खिलाफ मामला दहेज हत्या का मामला दर्ज किया था। इस प्रकरण में विवाहिता रुचि की मां ने 8 अगस्त को दिबियापुर थाना क्षेत्र के गांव रुहेली में सेंगुर नदी से बरामद एक अज्ञात महिला के शव को अपनी पुत्री रुचि के रुप में पहचान करने के बाद दर्ज कराई थी। पुलिस ने विवाहिता के ससुरालीजनों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। जिसमें पुलिस को हत्या जैसे कोई तथ्य नहीं मिले। इस पर पुलिस ने पूछताछ में मिले तथ्यों के आधार पर विवाहिता की खोजबीन शुरू की। जिसमें पुलिस ने उसे शुक्रवार को अमृतसर से बरामद किया। इस मामले में सीओ सिटी सुरेंद्र नाथ यादव ने बताया कि रुचि की हत्या नहीं हुई है। बल्कि पुलिस ने उसे अमृतसर से बरामद किया है। रुचि वहां कैसे पहुंचे, किसके साथ गई आदि तमाम जानकारियां करने को पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। एसपी सुनीति ने बताया कि लापता हुई रुचि द्वारा खुद ही अपने परिजनों को फोन करके अपने जिंदा होने की जानकारी दी गई। जिस पर परिजनों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी। बताया कि रुचि के ससुरालीजनों पर दर्ज दहेज हत्या का मामला एक्सपंज किया जाएगा। सेंगुर नदी में मिला शव आखिर किस महिला का है.. दिबियापुर थाना क्षेत्र स्थित गांव रुहेली में 8 अगस्त को पुलिस ने नहर से एक महिला का शव बरामद किया था। इस मामले में पुलिस ने फतेहगढ़ जिला निवासी स्नेहलता द्वारा शव की अपनी पुत्री रुचि के रुप में शिनाख्त किए जाने के बाद गुत्थी सुलझते देख राहत की सांस ली थी। लेकिन पुलिस की यह राहत शुक्रवार को गफूर हो गई। जब पुलिस ने अमृतसर से रुचि को सकुशल बरामद कर लिया। ऐसे में सवाल यह उठता है कि नदी से बरामद शव आखिर किस महिला का है। क्योंकि शव को देखने से उसकी जीभ बाहर निकली हुई है। ऐसे में हत्या करके शव को नदी में फेंकने का अनुमान लगाया जा रहा है। एसपी सुनीति ने बताया कि नहर में मिले अज्ञात शव का शिनाख्त के बाद पोस्टमार्टम कराया दिया गया था। रिपोर्ट में कुछ भी स्पष्ट न होने पर उसका डीएनए कराने को बिसरा सुरक्षित करा लिया गया था। अब उसकी सुरागसी जारी कराई जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार / सुनील/मोहित-hindusthansamachar.in