औरैया: एम आर एफ़ सेंटर के लिए जमीन पर काम शुरूं, नगर पंचायत की टीम पर ग्रामीणों का हमला
औरैया: एम आर एफ़ सेंटर के लिए जमीन पर काम शुरूं, नगर पंचायत की टीम पर ग्रामीणों का हमला
उत्तर-प्रदेश

औरैया: एम आर एफ़ सेंटर के लिए जमीन पर काम शुरूं, नगर पंचायत की टीम पर ग्रामीणों का हमला

news

ग्रामीणों ने पुलिस के ऊपर भी चलाये ईट- पत्थर। औरैया, 20 दिसम्बर (हि. स.)। स्वच्छ भारत मिशन के तहत जनपद के कस्बा फफूद को स्वच्छता की चादर ओढ़ाने की कवायद चल रही है। मिशन के तहत शासन ने 32 लाख रुपये का बजट अवमुक्त करके एमआरएफ (मैटेरियल रिकवरी फैसिलिटी) सेंटर बनाने को कहा है। जिसके तहत प्रशासन पहले से ही जैतपुर बंजरा डेरा में पहले से जगह चयनित कर चुका है। रविवार को नगर पंचायत प्रशासन कार्य शुरू करवाने के लिए पहुचा जैसे ही काम सुरु हो हुआ तभी डेरा बंजारन के लोग वहां आगये और नगर पंचायत प्रशासन का काम बंद करवा दिया। सूचना पर पहुची पुलिस के ऊपर ईट पत्थर से हमाला करने लगे। थानाध्यक्ष ने पूरे थाने का स्टाफ व पीआरबी फोर्स भी पहुच गया जिसके वाद गांव के लोगो को खदेड़ा गया और काम को चालू कराया गया। कस्बा के नजदीकी गांव जैतपुर के मजरा बंजारन डेरा में सल्लाहपुर मार्ग पर वृक्षा रोपण की एक हैक्टेयर जमीन है। जिसकी गाटा संख्या 553 है। जिसपर 32 लाख रुपये की लागत से एमआरएफ (मैटेरियल रिकवरी फैसिलिटी) सेंटर बनाने का सरकार की तरफ से प्रस्ताव आया है जिसको लेकर रविवार को जमीन का निर्माण को लेकर नगर पंचायत के ईओ बलवीर सिह,अवर अभियंता पी पी सिह,लेखपाल प्रमोद कुमार, अगम तिवारी,अश्वनी यादव पहुचे और काम चालू करवाया तभी डेरा बंजारा के लोग वहा आगये और विरोध करने लगे ग्रामीणों का कहना था कि यहां पर अगर सेंटर बनेगा तो इसकी दुर्गंध से हम लोग बीमार पड़ेंगे जिसको लेकर हम लोग यह सेंटर नही बन्ने देगे काम को रुकवा दिया तथा प्रशासन के साथ बदसलूकी करने लगे। इतने में पुलिस प्रशासन को फोन कर जानकारी दी गई। सूचना मिलते ही मौके पर थानाध्यक्ष राजेश सिह फोर्स के साथ पहुच गये और ग्रामीणों को समझाने लगे तभी ग्रामीणों की तरफ से ईंट पत्थर प्रशासन के ऊपर फेके जाने लगे स्थिति को काबू करने के लिए थाने का पूरा फोर्स व पीआरबी पुलिस को भी मौके पर पहुच गई लगभग दो घण्टे तक गांव के लोग पुलिस प्रशासन के ऊपर ईंट पत्थर चलाते रहे। गनीमत यह रही की किसी को ईट लगी नही। जिसके वाद काम चालू हो सका। नगर पंचायत के ईओ बलवीर सिह ने बताया की शासन के आदेश पर एमआरएफ (मैटेरियल रिकवरी फैसिलिटी) सेंटर बनाया जा रहा है। इस सेंटर में कस्बा का सूखा कूड़ा करकट जुटाकर उसमें बिकने वाली धातुओं में लोहा पीतल तांबा एल्युमिनियम कांच प्लास्टिक आदि की छंटाई की जाएगी। छंटनी के बाद मिलने वाले बिकाऊ सामान को अलग किया जाएगा और छांटा जाएगा। यह सेंटर 32 लाख रुपये की लागत से बनेगा। हिन्दुस्थान समाचार / सुनील /मोहित-hindusthansamachar.in