ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिंडोला में सिख दंगों में जान गंवाने वालों को दी गई श्रद्धांजलि
ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिंडोला में सिख दंगों में जान गंवाने वालों को दी गई श्रद्धांजलि
उत्तर-प्रदेश

ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिंडोला में सिख दंगों में जान गंवाने वालों को दी गई श्रद्धांजलि

news

-प्रत्येक पीड़ित परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी की मांग लखनऊ, 05 नवम्बर (हि.स.)। ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिंडोला में 1984 में देश के अनेक शहरों में सिख विरोधी दंगों में मारे गए सिखों की याद में गुरुवार को अरदास एवं श्रद्धांजलि समागम का आयोजन किया गया लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान स. राजेंद्र सिंह बग्गा ने शहीद निर्दोष सिखों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनके कातिलों को अभी तक सजा ना मिलना, यह बहुत बड़े अफसोस की बात है। कत्लेआम के इतने वर्ष बीत जाने के बाद भी अभी तक किसी भी दंगाइयों को फांसी नहीं हुई है। यह बहुत ही दुखद है। उन्होंने कहा कि हम सब यह सरकार से मांग करते हैं कि दंगाइयों को जल्द से जल्द कड़े से कड़ा दंड दिया जाए और पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक पीड़ित परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाए ताकि वह अपने परिवार को भरण-पोषण में सहायता कर सकें। समागम के अंत में दरबार हॉल में उपस्थित सभी लोगों ने मुख्य ग्रंथी ज्ञानी सुखदेव सिंह के साथ श्री गुरु ग्रन्थ साहिब के चरणों में दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए और उनके परिवार को न्याय दिलाने तथा उनके बेहतर जीवन के लिए श्री गुरु ग्रन्थ साहिब के चरणों में अरदास की। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/दीपक-hindusthansamachar.in